राज्य ब्यूरो, जम्मू। राज्य प्रशासन ने वर्षों से गैरहाजिर चल रहे 65 डॉक्टरों को नौकरी से बर्खास्त कर दिया है। बर्खास्त किए गए डॉक्टरों में 12 कंसल्टेंट और एक डेंटल सर्जन भी है। इन डॉक्टरों को कुछ सप्ताह पूर्व ही नोटिस जारी किया गया था, लेकिन किसी के ज्वाइन न करने पर सभी को बर्खास्त कर दिया गया।

बर्खास्त किए गए डॉक्टरों में डॉ. अरुण कुमार शर्मा, डॉ. हरविंद्र सिंह, डॉ. आरती राजपूत, डॉ. अरुणा भगत, डॉ. दीपाली रैना, डॉ. सुशील कुमार पंडिता, डॉ. इरम मीर, डॉ. नीरू कौल, डॉ. अभिनव रैना, डॉ. अमित बड़गाल, डॉ. नीरज, डॉ. कुसूम, डॉ. दिनेश सिंह चौहान, डॉ. ममता, डॉ. राकेश कौल, डॉ. सत्येंद्र सिंह, डॉ. विमल पंडिता, डॉ. अश्विन कुमार शर्मा, डॉ. विक्रम सिंह, डॉ. अमित साहनी, डॉ. संदीप कौल, डॉ. विकास चंदेल, डॉ. आशिया शेख, डॉ. पूनम मल्होत्रा, डॉ. राकेश रोशन, डॉ. अंकुश तंबोत्रा, डॉ. कुलदीप कुमार, डॉ. अंकुश सिंह कोतवाल, डॉ. ममता अरोड़ा, डॉ. सपना रैना, डॉ. शकुरा भट, डॉ. अग्निवेश टिक्कू, डॉ. नेहा शर्मा, डॉ. अथर बशीर, डॉ. अरशद हुसैन भट शामिल हैं।

इसके अलावा डॉ. नसीर मुज्जफर, डॉ. नरगिस अंद्राबी, डॉ. इमरान मुमताज, डॉ. ओजर बिन माजिद, डॉ. शबनम गुलशन, डॉ. अब्दुल क्यूम खान, डॉ. शफत अहमद मीर, डॉ. शेख क्यूम, डॉ. फिरदौस अहमद भट, डॉ. तनवीर नजीर, डॉ. यासिर अहमद भट, डॉ. आदिल फारूक मलिक, डॉ. एस रेशी, डॉ. अहमद कुरैशी, डॉ. नाजिया बशीर, डॉ. सीमा नजीर, डॉ. सैयद माजिद हुसैन, डॉ. नवीद खान, डॉ. फिजाय अहमद भट, डॉ. मुजमिल मुस्तफा, डॉ. अजीज, डॉ. शब्बीर अहमद वानी, डॉ. हाकिम इमरान, डॉ. हिना अल्ताफ, डॉ. अमीना बशीर, डॉ. मोहम्मद इकबाल मीर, डॉ. आसिमा खान, डॉ. वी रसूल और डॉ. नियाज जान को भी नौकरी से बर्खास्त कर दिया है।

बर्खास्त हुए इन डॉक्टरों में कुछ विदेशों में काम कर रहे हैं तो कुछ देश के विभिन्न स्थानों पर निजी अस्पतालों में काम कर रहे हैं। इससे पहले भी गैरहाजिर डाक्टरों को पूर्व की राज्य सरकारें कई बार बर्खास्त कर चुकी हैं।