राज्य ब्यूरो, जम्मू : सीमा सुरक्षा बल के महानिदेशक केके शर्मा ने कहा है कि राज्य में प्रधानमंत्री दौरे की तैयारी के बीच रविवार देर रात पांच आतंकियों का दल सुरंग के रास्ते जम्मू संभाग के कठुआ जिले में सीमा पार कर घुस आया है। सोमवार रात भी पाकिस्तान ने गोलाबारी की आड़ में दो बार आतंकियों की घुसपैठ करवाने की कोशिश की है। ऐसे हालात में सीमा सुरक्षा बल प्रधानमंत्री के दौरे को सुरक्षित बनाने के लिए बहुत गंभीर है। सेना व पुलिस के सहयोग से आतंकियों को मार गिराया जाएगा।

केके शर्मा ने मंगलवार दोपहर जम्मू में सीमा सुरक्षा बल फ्रंटियर मुख्यालय में सांबा सेक्टर में पाकिस्तान की गोलाबारी में शहीद हुए कांस्टेबल देवेन्द्र ¨सह बघेल को सलामी दी। पाकिस्तान के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के संकेत देते हुए उन्होंने स्पष्ट किया कि देवेन्द्र ¨सह की शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी। इस मौके पर जम्मू फ्रंटियर के आइजी राम अवतार व दिल्ली से आए आइजी पीए संधु भी मौजूद थे। जम्मू दौरे के दौरान उन्होंने सीमा के हालात की जानकारी लेने के लिए सीमा सुरक्षाबल के अधिकारियों के साथ बैठक भी की।

इससे पहले शहीद सीमा प्रहरी को पुष्प चक्र अर्पित करने के बाद डीजी केके शर्मा ने कहा कि कठुआ के हीरानगर के बोबियां में पांच आतंकी सीमा पर पाकिस्तान द्वारा बनाई गई किसी सुरंग के रास्ते घुसे होंगे। अभी कोई सुरंग नहीं मिली है, लेकिन तलाशी जारी है।

उन्होंने बताया कि रविवार रात हाई डेफिनिशन कैमरा में इन आतंकियों की गतिविधियां देखी गई थीं। इनके भारतीय क्षेत्र में देखे जाने के बाद दिनभर व्यापक तलाशी अभियान चला।

----------------

लांचिंग पैड पर आतंकी मौजूद

डीजी ने कहा कि प्रधानमंत्री के दौरे से कुछ दिन पहले पाकिस्तान की ओर से सीमा पर घुसपैठ करवाने की दो कोशिश गंभीर मामला है। सीमा पार लां¨चग पैडों पर बड़ी संख्या में आतंकी मौजूद हैं। सीमा प्रहरी किसी भी स्थिति का सामना करने के लिए तैयार हैं। हम पूरी चौकसी बरत रहे हैं। हमें पहले से ही अंदेशा था कि पाकिस्तान सीमा पर फसल कटते ही हालात खराब करने की कोशिश करेगा।

-----------------

स्मार्ट फैंस पायलट प्रोजेक्ट अगले माह तक

सीमा पर स्मार्ट फैंस के पायलट प्रोजेक्ट के बारे में डीजी केके शर्मा ने कहा कि यह अगले महीने के आरंभ तक पूरा हो जाएगा। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ ¨सह इसका उद्घाटन करेंगे। स्मार्ट फैंस से पाकिस्तान के मंसूबों को नाकाम बनाने में तकनीकी सहयोग मिलेगा। इससे दुश्मन के तीन किलोमीटर के इलाके में हीट सिग्नेचर से किसी भी मौसम में दुश्मन को दूर से देखकर तैयारी करना संभव होगा।

----------------

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप