जम्मू, राज्य ब्यूरो : जल जीवन मिशन के तहत 2022 तक साै फीसद ग्रामीण परिवारों को नल के पानी के कनेक्शन देने के प्रयासों के तहत प्रदेश ने दो वर्षों में 4.62 लाख पानी के कनेक्शन दिए हैं।

मिशन निदेशालय, जल जीवन मिशन जम्मू-कश्मीर द्वारा तैयार किए गए रोडमैप के पहले चरण में, दो जिले श्रीनगर और गांदरबल, जिसमें 11 ब्लॉक, 383 पंचायत और 925 गांव शामिल हैं, को साै फीसद पाइप्ड वाटर टैप कनेक्शन के साथ कवर किया गया था।

जल जीवन मिशन 15 अगस्त, 2019 को शुरू किया गया था।इसके तहत, केंद्र शासित प्रदेश ने सितंबर 2022 तक सभी 20 जिलों को कवर करने का लक्ष्य रखा है।

जल शक्ति विभाग के आंकड़ों के अनुसार, 18.35 लाख ग्रामीण परिवारों में से, 5.75 लाख (31.36%) मिशन की शुरुआत में यानी 15 अगस्त 2019 को पाइप से पानी के कनेक्शन से जुड़े थे। जम्मू और कश्मीर ने 10.37 लाख (56.51) को कवर किया है। अब तक नल के पानी के कनेक्शन वाले घरों और जिनमें से वर्ष 2020-21 के दौरान 2.22 लाख नल के पानी के कनेक्शन दिए गए हैं।

जल जीवन मिशन ने 11 जिलों को कवर करने के लिए चल रहे दूसरे चरण में अपने सभी कर्मचारियों और मशीनरी को लगाया है। जिसमें 153 ब्लॉक, 1952 पंचायत और 3254 गांव में 4.91 लाख घरेलू नल कनेक्शन देने हैं।जम्मू-कश्मीर में मिशन के अंतिम चरण के दौरान, 121 ब्लॉक, 1660 पंचायत और 2623 गांवों वाले 7 जिलों को 3.12 लाख घरेलू नल कनेक्शन के साथ कवर किया जाएगा।

जल शक्ति विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इसका उद्देश्य पहले से उिए गए कनेक्शन की कार्यक्षमता सुनिश्चित करते हुए 100 प्रतिशत घरों को समयबद्ध तरीके से कवर करना है।

Edited By: Rahul Sharma