श्रीनगर, जेएनएन : कश्मीर घाटी में आतंकवाद के खिलाफ लड़ रहे सुरक्षाबलों के हाथ बड़ी सफलता लगी है। पुलिस ने उत्तरी कश्मीर के जिला बांडीपोर के हाजिन इलाके से चार ओवरग्राउंड वर्करों को गिरफ्तार किया है। ये लोग लश्कर-ए-तैयबा के लिए काम करते थे और स्थानीय युवाओं को संगठन में शामिल होने के लिए बरगलाते भी थेे।  

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सूचना तंत्रों ने काफी देर पहले पुलिस को यह जानकारी थी कि हाजिन में एक गिरोह लश्कर-ए-तैयबा के लिए काम कर रहा है। ये गिराेह लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े आतंकियों को हर संभव सहायता उपलब्ध कराने के साथ-साथ उनके लिए युवाओं की भर्ती भी करते हैं। आज जब पुलिस को इस गिरोह के सदस्यों के ठिकाने के बारे में पता चला तो उन्होंने सेना व सीआरपीएफ के जवानों की मदद से हाजिर में एक ठिकाने पर छापा मारा और चारों को गिरफ्तार कर लिया। तलाशी के दौरान ठिकाने से हथियार व संगठन से जुड़े कुछ आपत्तिजनक दस्तावेज भी बरामद हुए हैं। 

आपको बता दें कि कश्मीर के विभिन्न जिलों में सक्रिय ये ओवरग्राउंड वर्कर आतंकी संगठनों के लिए आंख और कान का काम करते हैं। सुरक्षाबलों के ठिकानें कहां-कहां हैं, कहां से जाना उनके लिए सुरक्षित है। यही नहीं आतंकी हमलों को अंजाम देने में भी इन ओवर ग्राउंड वर्करों का अहम योगदान होता है। वारदात को अंजाम देने तक आतंकियों को सुरक्षित जगह पर ठहराना, जरूरत पड़ने पर उन तक रूपये व हथियार पहुंचाने का काम भी इन्हीं ओवर ग्राउंड वर्करों का होता है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि कश्मीर घाटी में पिछले दो सालों के भीतर 300 से अधिक ओवरग्राउंड वर्करों को गिरफ्तार किया है।

इसी माह 9 सितंबर को कश्मीर पुलिस ने अलूसा बांडीपोर से महिला ओवरग्राउंड वर्कर को गिरफ्तार किया था। तलाशी लेने पर महिला से ग्रेनेड व आपत्तिजनक सामग्री बरामद हुई थी।

कुलगाम के जंगलों में आतंकी ठिकाना ध्वस्त : दक्षिण कश्मीर के जिला कुलगाम के दमहाल हांजीपोरा के त्रेनारियान के जंगलों में सुरक्षाबलों ने तलाशी अभियान के दौरान आतंकी ठिकाने को ध्वस्त किया है। वीरवार दोपहर को चलाए गए इस तलाशी अभियान के दौरान आतंकी ठिकाने से भारी मात्रा में हथियार व गोलाबारूद भी बरामद किया गया है। पुलिस ने बताया कि सूत्रों से मिली जानकारी के आधार पर सेना की 34 आरआर, एसओजी और सीआरपीएफ के जवानों ने अभियान के दौरान इस आतंकी ठिकाने को ध्वस्त किया। ठिकाने से हथियारों के साथ-साथ आपत्तिजनक सामग्री भी बरामद हुई है।

 

Edited By: Rahul Sharma