जम्मू, राज्य ब्यूरो: जम्मू कश्मीर की दोनों राजधानियों में सचिवालयों में प्रशासनिक सचिवों के जिम्मेवारी संभालने के साथ सरकारी कामकाज तेज हो गई। दोनों सचिवालयों ने ई आफिस व्यवस्था में एक साथ काम करते हुए कई सरकारी फाइलों को आनलाइन निपटाया।

श्रीनगर सचिवालय में कामकाज की जिम्मेवारी संभालने के लिए पहुंचे प्रशासनिक सचिवों ने अपने अपने विभागों में कामकाज को तेजी देने के लिए बैठकें भी की। इस दौरान कोरोना से उपजे हालात में सचिवालय में कामकाज के दौरान कोरोना की रोकथाम संबंधी हिदायतों का सख्ती से पालन करने पर जोर दिया। श्रीनगर सचिवालय में पंद्रह मई को महत्वूपर्ण फाइलें पहुंच गई थी। सरकार के स्पष्ट निर्देश है कि प्रशासनिक सचिव कोरोना से उपजे हालात में सुनिश्चित करें कि लोगों के मसलों का समाधान हो।

ऐसे हालात में अब पंद्रह दिन श्रीनगर सचिवालय में डेरा डालने वाले प्रशासनिक सचिवों में स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग के वित्त आयुक्त अतुल डुल्लू, आवास एवं शहरी विकास विभाग के प्रमुख सचिव धीरज गुप्ता, कौशल विकास विभाग के प्रमुख सचिव डा असगर हसन समून, लोक निर्माण विभाग के प्रमुख सचिव शैलेंद्र कुमार, सामान्य प्रशासनिक विभाग के आयुक्त सचिव मनोज कुमार द्विवेदी, स्कूल शिक्षा विभाग के प्रशासनिक सचिव बीके सिंह, जल शक्ति विभाग के आयुक्त सचिव एम राजू, पर्यटन विभाग विभाग के सचिव सरमद हफीज, बागवानी विभाग के सचिव शेख फेयाज, हॉस्पिटैलिटी विभाग के आयुक्त सचिव तलत परवेज रोहिल्ला, खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के आयुक्त सचिव जुबेर अहमद, ट्रेनिंग विभाग के सचिव अब्दुल मजीद भट्ट व कानून विभाग के सचिव अचल सेठी शामिल हैं।

वहीं जम्मू सचिवालय से कामकाज संभाल रहे प्रशासनिक सचिवों में वित्त विभाग के वित्त आयुक्त अरुण कुमार मेहता, गृह व राजस्व विभाग के प्रमुख सचिव शालीन काबरा, ग्रामीण विकास विभाग के प्रमुख सचिव विपुल पाठक, पशुपालन विभाग के प्रमुख सचिव नवीन कुमार चौधरी, बिजली विभाग के प्रमुख सचिव रोहित कंसल, युवा सेवा एवं खेल विभाग के प्रमुख सचिव आलोक कुमार, उद्योग विभाग के प्रमुख सचिव रंजन ठाकुर, यातायात विभाग के आयुक्त सचिव हृदेश कुमार, श्रम विभाग की आयुक्त सचिव सरिता चौहान, वन विभाग के आयुक्त सचिव संजीव वर्मा, समाज कल्याण विभाग की सचिव शीतल नंदा, सहकारिता विभाग की सचिव यशा मुदगल, आपदा एवं प्रबंधन विभाग के सचिव सिमरनदीप सिंह, जनजातीय मामलों के सचिव डा शाहिद इकबाल चौधरी व उच्च शिक्षा विभाग की सचिव सुषमा चौहान शामिल हैं।

कोरोना से उपजे हालात में इस बार दरबार मूव नही हुआ है। कश्मीर संभाग के कर्मचारी श्रीनगर सचिवालय से व जम्मू के कर्मचारियों जम्मू सचिवालय से काम कर रहे हैं। ऐसे हालात में इस बार सिर्फ प्रशासनिक सचिव ही दोनों सचिवालयों में मूव करेंगे। उपराज्यपाल व मुख्यसचिव भी समय-समय पर दोनों सचिवालयों में मूव करते रहेंगे।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप