जम्मू, राज्य ब्यूरो। राज्य में आतंकियों की धमकियों के चलते 190 मतदान केंद्र अति संवेदनशील हैं। पहले चरण में आठ अक्टूबर के मतदान में जम्मू, कश्मीर के साथ लद्दाख में 820 मतदान केंद्रों में वोट डाले जाएंगे। पहले चरण में राज्य के 5,86,064 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।

मुख्य निर्वाचन कार्यालय की ओर से चुनाव को निष्पक्ष व कामयाब बनाने के लिए पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। पहले चरण में 422 वार्ड हैं, जिनमें से सोमवार को 321 वार्डो में मतदान होगा। कश्मीर में कई ऐसे वार्ड हैं, जहां पर कोई भी उम्मीदवार मैदान में नहीं है।

रविवार को 820 मतदान केंद्रों में तैनात पोलिंग स्टाफ को इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनें व अन्य चुनावी सामग्री सौंप कर अपने मतदान केंद्रों में रवाना कर दिया गया। सोमवार को कश्मीर में 150 मतदान केंद्रों में वोट पड़ेंगे। दूसरी ओर जम्मू संभाग में 670 मतदान केंद्रों में वो¨टग होंगी। मतदान को लेकर कश्मीर में सोमवार को अलर्ट रहेगा।

राज्य में पहले चरण के 190 अति संवेदनशील मतदान केंद्रों में से 138 कश्मीर और 52 जम्मू संभाग में हैं। बड़गाम में सोमवार को होने वाले मतदान में सिर्फ दो उम्मीदवार भाग्य आजमा रहे हैं। कश्मीर में सबसे अधिक 42 उम्मीदवार बांडीपोरा से चुनाव मैदान में हैं।

राज्य में सबसे अधिक 447 उम्मीदवार जम्मू नगर निगम के 75 वार्डो के लिए चुनाव मैदान में हैं। राज्य में 1145 वार्डो में चार चरणों के चुनाव के लिए 3372 उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र भरे थे। नामांकन पत्रों की जांच और नाम वापस लेने की अंतिम तिथि के बाद अब चुनाव में 2090 उम्मीदवार रह गए हैं। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस