संवाद सहयोगी, बिश्नाह : जेके शाइ¨नग स्टार के ऑडिशन के लिए बिश्नाह में लगाए गए स्टूडियो में अपना भाग्य आजमाने के लिए ग्रामीण क्षेत्र के कुल 300 बच्चों ने ऑडिशन दिए। इसमें जज ने बच्चों की प्रतिभा में डांस की बारीकियों को देखते हुए कुल 30 बच्चों को अगले दौर के लिए चुन लिया। यह बच्चे बिश्नाह, बड़ी ब्राह्मणा ब आसपास के ग्रामीण क्षेत्र से विशेष तौर पर आए थे। बच्चों के साथ उनके अभिभावक भी पहुंचे थे। बिश्नाह के एक निजी पैलेस में आयोजित किए गए समारोह में अपना भाग्य आजमाने के लिए बच्चे सुबह 8 बजे से ही कतारबद्ध होकर खड़े थे। 9 बजे कार्यक्रम शुरू होकर शाम 5 बजे तक चला। इस कार्यक्रम में जज की भूमिका निभा रहे शशि गुप्ता ने बच्चों के डांस को समझते हुए चुनाव किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व विधायक अश्विनी शर्मा द्वारा दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। आए हुए मेहमानों से कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है उन्हें निखारने की जरूरत है ग्रामीण क्षेत्र में ऐसा कोई इंस्टीट्यूट डांस एकेडमी नहीं है, जहां पर बच्चे अपना भाग्य आजमा के डांस की बारीकियां सीख सकें लेकिन फिर भी ग्रामीण क्षेत्र में हम जो टैलेंट देख रहे हैं अगर इनको तराशा जाए तो बेहतर डांसर जहां से निकल सकते हैं और अच्छे मुकाबले कर सकते हैं। उन्होंने शशि गुप्ता व पायल की जमकर तारीफ की। कहा कि यह डांस की जानकारी और अच्छी सोच रखते हैं। इसलिए ग्रामीण बच्चों की प्रतिभा को निखारने के लिए यह कार्यक्रम चलाया गया है इसके लिए हम उनका धन्यवाद करते हैं। शशि गुप्ता ने कहा कि हमारा उदेश्य ग्रामीण बच्चों को आगे लाना है। इसीलिए यह अभियान चलाया है। इस मौके पर स्कूल के बच्चे अभिभावक मौजूद थे।

Posted By: Jagran