श्रीनगर, जेएनएन। पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने शुक्रवार को कहा था कि अगर बीजेेेेपी ने पीडीपी को तोड़ने की कोशिश की तो उसके परिणाम बेहद खतरनाक होंगे। महबूबा मुफ्ती के विवादित बयान पर भाजपा महासचिव और जम्मू-कश्मीर-पूर्वोत्तर के प्रभारी राममाधव ने महबूबा मुफ्ती को कहा है कि भाजपा को दोष देना बंद करे, राम माधव ने कहा कि मोदी सरकार आतंकवाद के किसी भी खतरे को संभालने में सक्षम है।

 जम्मू-कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा की खतरनाक परिणाम झेलने वाली और सलाउद्दीन जैसे और आतंकी पैदा होने की धमकी पर बीजेपी ने पलटवार किया है। बीजेपी ने महबूबा मुफ्ती के बयान को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा है कि सरकार और सेना घाटी के सारे आतंकियों के खात्मे में सक्षम है। जानकारी हो महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार और बीजेपी पर पीडीपी को तोड़ने की कोशिश का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि अगर ऐसा हुआ तो परिणाम 1987 से भी भयानक होंगे। महबूबा ने कहा था कि तब जिस तरह एक सलाउद्दीन और यासीन मलिक पैदा हुए थे, इसबार हालात और भी खराब होंगे। 

बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने महबूबा के इस बयान पर टिप्पणी करते हुए कहा कि उन्होंने जो कहा वह दुर्भाग्यपूर्ण है। राम माधव ने कहा, 'दिल्ली में कोई भी उनकी पार्टी को तोड़ने की कोशिश नहीं कर रहा। अपने आंतरिक विवादों को सुलझाने की बजाय वे दिल्ली पर आरोप लगा रहीं हैं और आतंकवाद के नाम पर धमका रहीं हैं। जहां तक बीजेपी की बात है तो हम किसी भी पार्टी को तोड़ने की कोशिश नहीं कर रहे हैं।'  

राम माधव ने कहा कि जहां तक सलाउद्दीन के नाम पर धमकी देने की बात है तो केंद्र सरकार और सुरक्षा बल घाटी के सारे आतंकवादियों के खात्मे में सक्षम हैं। राम माधव ने तंज कसते हुए कहा कि उनके खात्मे में भी सक्षम हैं जो महबूबा की वजह से आतंकवाद का रास्ता अपना सकते हैं।  

जानकारी हो कि भाजपा द्वारा समर्थन वापस लिए जाने के बाद 18 जून को पीडीपी-भाजपा गठबंधन सरकार गिर गई थी। उसके बाद से राज्य में राज्यपाल शासन लागू है और महबूबा की पार्टी में लगातार उनके नेतृत्व के खिलाफ बगावत उभर रही है। कहा जा रहा है कि पीडीपी के करीब 14 विधायक भाजपा के साथ लगातार संपर्क में हैं। बगावत को कुचलने की कोशिश करते हुए महबूबा ने एमएलसी यासिर रेशी को जिला बांडीपोर पीडीपी इकाई के अध्यक्ष पद से हटा दिया था।

भाजपा महासचिव और जम्मू-कश्मीर-पूर्वोत्तर के प्रभारी राममाधव ने कहा कि कश्मीर में पीडीपी से समर्थन वापस लेने के बाद  महबूबा मुफ्ती के बयान के जवाब में कहा कि मोदी सरकार आतंकवाद के किसी भी खतरे को संभालने में सक्षम है। आतंक के खिलाफ लड़ाई में अच्छा कर ही रहे थे। तीन वर्षों में छह सौ से ज्यादा आतंकियों को फोर्स ने मार गिराया। केंद्र सरकार ने 80 हजार करोड़ रुपए दिए। फिर भी विकास में, सुशासन में मित्र दल (पीडीपी) पूर्ण रूप से नहीं लग रहा था। इतने पर भी इस दिशा में आगे नहीं बढ़ते हैं तो गठबंधन का मतलब नहीं है। हमने जम्मू-कश्मीर में सरकार छोड़ी है, जम्मू-कश्मीर नहीं छोड़ा है।

राममाधव ने कहा कि कश्मीर में आतंक की समस्या है। जिस दिन आतंक खत्म हो जाएगा बाकी सारे मुद्दों को हल किया जा सकता है। बंदूक-हथियार हाथ में लेना कश्मीर की असली समस्या है। हमारा लक्ष्य है, आखिरी आतंकी को भी खत्म करना। भाजपा महासचिव राम माधव ने कहा कि मोदी सरकार आतंकवाद के किसी भी खतरे को संभालने में सक्षम है।

ब्लैकमेल की सियासत बंद करें महबूबा

पूर्व मंत्री इमरान रजा अंसारी के नेतृत्व में पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के बागी विधायकों ने पार्टी प्रमुख महबूबा मुफ्ती को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि वह ब्लैकमेल और भावनाओं के शोषण की सियासत बंद करें। उन्होंने कहा कि महबूबा का यह कहना कि पीडीपी के विघटन से कश्मीर में आतंकी हिंसा तेज होगी, निंदाजनक है और उन्होंने अपने बयानों से यहां सभी विधायकों की विश्वसनीयता और जनता में उनकी स्वीकार्यता पर सवालिया निशान लगा दिया है। इमरान रजा अंसारी ने कहा कि महबूबा जिस तरह से पीडीपी के टूटने पर यासीन मलिक और सलाहुद्दीन के दोबारा पैदा होने की धमकी दे रही हैं, उससे उनकी हताशा प्रकट होती है।

हम मुफ्ती और अब्दुल्ला खानदान की सियासत के खिलाफ :

इमरान रजा अंसारी ने कहा कि कश्मीर मसला तब तक हल नहीं होगा जब तक यहां खानदानी सियासत चलेगी। हमारा जमीर जाग उठा है और हम मुफ्ती और अब्दुल्ला खानदान की सियासत के खिलाफ हैं।

महबूबा ने अपने भाई को मंत्री बनाकर लोगों पर थोपा :

दो दिन पहले बांडीपोर जिला पीडीपी इकाई के अध्यक्ष पद से हटाए गए एमएलसी यासिर रेशी ने कहा कि पीडीपी किसी भी तरह से पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी नहीं रह गई है। यह परिवार डेवलेपमेंट पार्टी बन गई है। महबूबा मुंबई से अपने सिनमेटोग्राफर भाई को यहां बुलाकर एमएलसी बनाती हैं और फिर उन्हें कैबिनेट में मंत्री बनाकर लोगों पर थोप देती हैं। यह कौन सा लोकतंत्र है।

पीडीपी को दिल्ली ने नहीं, महबूबा के चाटुकारों ने तोड़ा :

बारामुला के विधायक जावेद हुसैन बेग ने कहा कि महबूबा का यह कहना कि दिल्ली पीडीपी को तोड़ रही है, सरासर गलत है। कोई बाहरी ताकत पीडीपी को नहीं तोड़ रही है बल्कि महबूबा खुद और उनके चाटुकार पीडीपी को तोड़ रहे हैं।

कुर्सी जाते ही देश के खिलाफ बयानबाजी करना पुरानी आदत

प्रदेश भाजपा ने कहा कि कश्मीर में सईद सलाहुद्दीन, यासीन मलिक पैदा होने के महूबबा मुफ्ती के बयान कश्मीर की दोगली राजनीति का हिस्सा है। कुर्सी जाते ही देश के खिलाफ बयानबाजी शुरू कर देना कश्मीर केंद्रित पार्टियों की राजनीति का हिस्सा है। पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व एमएलसी अशोक खजूरिया ने कहा कि जो हिंदुस्‍तान के खिलाफ बोलेगा, उसे नही बख्शेंगे। कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। ऐसी बयानबाजी बर्दाश्त नहीं होगी।

ठीक इसी तरह कुर्सी जाने के बाद फारूक अब्दुल्ला भी देश के खिलाफ मोर्चा खोल देते थे। केंद्र सरकार पर भाजपा को तोड़ने की कोशिशें करने संबंधी महबूबा के बयान पर सांसद शमशेर सिंह ने कहा कि ऐसी बयानबाजी कुर्सी जाने के बाद की हताशा का परिणाम है। भाजपा बांटने की राजनीति में विश्वास नही रखती है। पहले एजेंडा ऑफ अलायंस व अब उकसाने वाले बैमानी बयान दिए जा रहे हैं।

कश्मीर के नब्बे प्रतिशत लोग शांति चाहते हैं व वे हालात खराब करने की कोशिशें करने वालों का अपना दुश्मन मानते हैं। इससे पहले भाजपा सांसद ने कहा कि भाजपा ने तीन सालों के दौरान राज्य में विकास को बढ़ावा देने के लिए व्यापक कदम उठाए।

उन्होंने स्पष्ट किया कि भाजपा ने लोगों के फैसले का सम्मान करते हुए पीडीपी के साथ सरकार बनाई थी। लोगों की खातिर पार्टी ने कुर्सी छोड़ दी। वहीं अशोक खजूरिया ने कहा कि भाजपा-पीडीपी सरकार मजबूरियों की सरकार थी, इस सरकार को गिराकर स्पष्ट संदेश दिए गया कि सत्ता नही सिद्धांत भाजपा के लिए अहम हैं। वहीं भाजपा के कार्यकाल में जम्मू में कृत्रिम झील, रोपवे व विकास के अन्य प्रोजेक्ट बनाने के वायदे पूरे न होने पर भाजपा सांसद ने कहा कि तीन सालों के दौरान जम्मू में बड़े बड़े प्रोजेक्ट लाने के साथ सड़कों, गलियों को बनाने की दिशा में बहुत काम किया गया।

केंद्र सरकार ने भी राज्य में विकास को बड़ी तेजी दी। वहीं सांसद ने सरकार के कश्मीर के पत्थरबाजों को रिहा करने संबंधी प्रश्न का उत्तर देने से इंकार कर दिया।

कारगिल के लिए 1.30 करोड़ रूपये देगी भाजपा

प्रदेश भाजपा के जनप्रतिनिधि लद्दाख के कारगिल जिले के विकास के लिए अपने विकास फंड से 1.30 करोड़ देंगे। यह घोषणा करते हुए भाजपा सांसद शमशेर सिंह  मन्हास ने बताया कि वह व लद्दाख के सांसद थुप्स्तन छिवांग अपने संसदीय क्षेत्र विकास फंड में से 15-15 लाख व एमएलसी विधानसभा क्षेत्र विकास फंड में से कारगिल के लिए दस दस लाख रूपये देंगे। इस धन का इस्तेमाल कारगिल के विकास के लिए किया जाएगा।

वहीं भाजपा-पीडीपी के कार्यकाल में लेह से अधिक भेदभाव होने पर उन्होंने कहा कि ऐसा संभव नही है। क्षेत्र में भाजपा के सांसद व एमएलसी के साथ लेह हिल काउंसिल ने विकास को बढ़ावा देने में कोई कसर नही छोड़ी है।

 प्रो टेररिस्ट है महबूबा मुफ्ती

पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के आतंकवादियों के समर्थन में दिए बयान की निंदा करते हुए भाजपा के विधायक चौधरी लाल सिंह ने कहा कि सत्ता से विमुख होते ही महबूबा मुफ्ती का असली चेहरा सामने आने लगा है। अक्सर वह कश्मीर में मारे जाने वाले आतंकियों के घर जाकर मातम मनाती हैं लेकिन युद्ध विराम की बात कर सुरक्षा बलों के हाथ बांधने का समर्थन करती हैं।

By Preeti jha