जम्मू, राज्य ब्यूरो। इस साल जम्मू-कश्मीर के ऊधमपुर और हंदवाड़ा में दो नए मेडिकल कालेज खोलने के लिए सरकार ने प्रक्रिया तेज कर दी है। बुधवार को स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग में 1612 पदों को सृजित करने को मंजूरी दी है। दोनों ही मेडिकल कालेजों में अस्पताल प्रशासन विभाग भी खुलेंगे।

विभाग द्वारा बुधवार कोे जारी आदेश के अनुसार, राजकीय मेडिकल कालेज ऊधमपुर और हंदवाड़ा में 27 विभागों के लिए 806-806 पद सृजित किए गए हैं। दोनो ही मेडिकल कालेजों में एनाटमी विभाग में 15-15, फिजियालोजी में 12, बायोेकैमिस्ट्री में 12, पैथालोजी में 20, माइक्रोबायालोजी में 13, फार्माकालोजी में 10, फोरेंसिक मेडिसिन में 11, कम्यूनिटी मेडिसिन में 40 पद शामिल हैं। इसके अलावा जरनल मेडिसिन में 26, टीबी और सांस संबंधी रोगों में आठ, वेनेरालोजी और लेप्रोसी में आठ, मनोरोग में 21, बाल रोग विभाग और इसकी सहायक विंग में 20, जनरल सर्जरी में 36, हड्डी रोग विभाग में 18, ईएनटी विभाग में 15, नेत्र रोग विभाग में 14, स्त्री रोग विभाग में 25, रेडियो डायग्नोसिस में 25, रेडियोथेरेपी में 13, एनेस्थीसिया विभाग में 24, फिजिकल मेडिसिन में 28, दंत रोग विभाग में 11, ब्लड बैंक में 17, अस्पताल प्रशासन में 14, सेंट्रल रिकार्ड सेक्शन में 15, पशु घर में चार, लाइब्रेरी में आठ, फोटो ग्राफी और आडियो-वीडियो विजुएल में छह, मेडिकल एजूकेशन यूनिट में 71, सेंट्रल स्टरलाइजेशन यूनिट में 19, अस्पताल नर्सिंग स्टाफ में 201 और कैजुएल्टी में 26 पद सृजित किए गए हैं।

पद सृजित होने के बाद अब दोनों मेडिकल कालेज स्थापित करने में अब और तेजी आएगी। सरकार ने दो वर्ष पहले हंदवाड़ा और ऊधमपुर में मेडिकल कालेज खोलने को मंजूरी दी थी। एक कालेज पर करीब 325 करोड़ की अनुमानित लागत आने की उम्मीद है। इसमें मेडिकल कालेज के निर्माण पर 115 करोड़ रुपये खर्च होंगे जबकि छात्रों तथा फैकल्टी के आवासों के लिए 80 करोड़ रुपये, उपकरणों पर 70 करोड़ रुपये और अस्पताल को अपग्रेड करने के लिए 60 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार दोनों ही कालेजों को शुरू करने के लिए पहले से ही प्रक्रिया जारी है। नेशनल मेडिकल मिशन की टीम के निरीक्षण के बाद यह दोनों कालेज इस साल एमबीबीएस के सत्र के साथ शुरू हो जाएंगे। 

Edited By: Vikas Abrol