Move to Jagran APP

Ladakh News: चीन से तस्करी करके इस तरीके से भारत ला रहे थे 108 किलो सोना, ITBP ने तीन को किया गिरफ्तार

लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर आईटीबीपी ने बुधवार को पूर्वी लद्दाख में 108 किलोग्राम सोने को जब्त किया है। आईटीबीपी ने सोने की बड़ी खेप में एक-एक किलो की छड़ों में ढाला गया था जिन पर गल्फ गोल्ड बार की मुहर लगी है। पुलिस ने तीन तस्करों को दो मोबाइल फोन एक दूरबीन दो चाकू के साथ कई चीन से निर्मित पदार्थ के साथ गिरफ्तार किया है।

By Jagran News Edited By: Deepak Saxena Thu, 11 Jul 2024 12:11 AM (IST)
चीन से तस्करी करके भारत ला रहे थे 108 किलो सोना जब्त, ITBP ने किया गिरफ्तार।

राज्य ब्यूरो, जम्मू। भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) ने बुधवार को पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास 108 किलोग्राम सोने के साथ तीन तस्करों को गिरफ्तार किया है। चीन से तस्करी कर लाए इस सोने को एक-एक किलोग्राम की छड़ों में ढाला गया था, जिन पर गल्फ गोल्ड बार की मुहर लगी है।

तस्करों से दो मोबाइल फोन, एक दूरबीन, दो चाकू, एक मशाल, हथौड़ा के अलावा केक और दही-दूध जैसे कई चीन निर्मित खाद्य पदार्थ भी मिले हैं। इन सामान को खच्चरों पर लादकर ले जाया जा रहा था। आईटीबीपी के मुताबिक, यह उसके द्वारा बरामद सोने की अब तक की सबसे बड़ी खेप है।

20 जवानों के दल LAC के पास की गश्त

सुरक्षाबल से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि गर्मी के दिनों में पूर्वी लद्दाख में तस्करी घटनाएं बढ़ जाती हैं। आईटीबीपी की 21 बटालियन के जवानों को चांगथांग उप सेक्टर में तस्करी की सूचना मिली थी। डिप्टी कमांडेंट दीपक भट के नेतृत्व में 20 जवानों के दल ने वास्तविक नियंत्रण रेखा से एक किलोमीटर की दूरी पर सिरिगापले गांव में गश्त शुरू की। बुधवार दोपहर करीब डेढ़ बजे खच्चरों के साथ जा रहे दो लोगों को देखा गया। उनकी गतिविधियां संदिग्ध लगीं। रुकने के लिए कहने पर वे भागने लगे। पूछताछ में उन्होंने झांसा देने की कोशिश की।

उन्होंने बताया कि वे औषधीय पौधों और जड़ी-बूटियों के डीलर के रूप में काम करते हैं, लेकिन जब सामान की तलाशी ली गई तो 108 किलोग्राम सोना और अन्य सामान बरामद हुआ। पकड़े गए तस्करों में 40 वर्षीय त्सेरिंग टार्गी व 69 वर्षीय नुरबू दोरजे लेह जिले के न्योमा क्षेत्र के रहने वाले हैं। इनसे पूछताछ के आधार पर एक और तस्कर को गिरफ्तार किया गया।

ये भी पढ़ें: Kathua Encounter: एक मिनट में 700 गोलियां... आतंकी हमलों में टेरिरिस्ट कर रहे इस अमेरिकी राइफल का इस्तेमाल, जानिए इसकी खासियत

आईटीबीपी के शिविर में ले जाकर पूछताछ

आईटीबीपी के शिविर में पूछताछ के बाद तस्करों को कस्टम विभाग के अधिकारियों के हवाले कर दिया गया। अब इन तस्करों से लद्दाख पुलिस, आइबी, स्पेशल ब्यूरो, आईटीबीपी व कस्टम विभाग की टीमें संयुक्त पूछताछ करेंगी। यह जानने की कोशिश की जा रही है कि चीन किस तरह से लद्दाख में घुसपैठ व तस्करी करवाने की साजिश रहा है।

आईटीबीपी पूर्वी लद्दाख के चिसमुले, नरबूला टाप, जकले, जकला इलाकों में घुसपैठ और तस्करी जैसी गतिविधियों पर पैनी नजर रख रहा है। यह कार्रवाई फ्रंटियर व श्रीनगर मुख्यालय की देखरेख में हो रही है।

ये भी पढ़ें: Encounter In Udhampur: ऊधमपुर में सुरक्षाबल और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी, CRPF और सेना ने की इलाके में घेराबंदी