महिलाओं में इनफर्टिलिटी की वजह बन रही आधुनिक जीवनशैली और तनाव


देश में इनफर्टिलिटी से जूझने वाली महिलाओं की तादाद में इज़ाफ़ा देखने को मिला है। ऐसे में ये ज़रुरी हो जाता है कि महिलाएं अपनी सेहत का ध्यान रखते हुए अपने जीवन के फैसले लें। अतिरिक्त तनाव और देर से विवाह भी महिलाओं की फर्टिलिटी पर असर डाल रहा है, इसके साथ ही फास्ट फूड और बढ़ता वज़न जैसी समस्याएं भी आजकल की महिलाएं झेलती हैं जिसकी वजह से महिलाओं को इनफर्टिलिटी से जूझना पड़ रहा है। आईवीएफ की अत्याधुनिक तकनीक के ज़रिये इनफर्टिलिटी से जूझ रहे दंपत्तियों को संतान सुख प्राप्त हो सकता है।