कराची, पीटीआइ। पाकिस्तान की क्रिकेट टीम अक्सर मैच फिक्सिंग को लेकर बदनामी का दाग झेलती रही है। मैच फिक्सिंग की वजह से पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड काफी बदनाम रहा है, लेकिन अब जो खबर पाकिस्तान की हॉकी टीम से जुड़ी सामने आई है। उसके मुताबिक, पाकिस्तान के क्रिकेटर ही नहीं, बल्कि हॉकी खिलाड़ी और अधिकारी भी तस्कर रहे हैं। ये खुलासा किसी और ने नहीं, बल्कि पाकिस्तान की हॉकी टीम के पूर्व कप्तान ने किया है।

पाकिस्तान की हॉकी टीम के पूर्व कप्तान हनीफ खान ने आरोप लगाया कि 1983 में हांगकांग से वापस आते समय उनकी टीम के कुछ खिलाड़ियों और अधिकारियों ने देश में बहुमूल्य सामानों की तस्करी की थी। उस समय टीम की बागडोर संभालने वाले हनीफ ने ये दावा किया है और कहा है कि 1983 में एक दौरे से लौटते समय पाकिस्तान की टीम के खिलाड़ियों और अधिकारियों ने जहाज से सामान चुराया था और उसकी तस्करी की थी।

हनीफ खान ने कहा है, "हम 1983 में एक अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में भाग लेने के बाद हांगकांग से वापस लौट रहे थे तब टीम के सामान के साथ कार के स्पेयर पा‌र्ट्स, वीसीआर, ग्लास फ्रेम जैसे चीजों को तस्करी टीम के खिलाड़ियों और अधिकारियों ने की थी और कीमती सामानों को तस्करी करके पाकिस्तान लाया गया था। उन दिनों ये सामान देश में प्रतिबंधित थे।" उन्होंने कहा कि उस समय तस्करी के सामान की कीमत लगभग डेढ़ करोड़ रुपये थी।

सीमा शुल्क अधिकारियों की जांच में टीम के कुछ सदस्य/अधिकारी तस्करी के गिरोह में शामिल पाए गए। हाल के दिनों में राष्ट्रीय टीम के साथ मुख्य कोच और मैनेजर की भूमिका निभाने वाले हनीफ खान ने कहा कि बाद में इस मामले को रफा-दफा कर दिया गया था। हालांकि, हनीफ खान के इस बयान से एक बात तो साफ है कि पाकिस्तान के खिलाड़ी दूध के धुले हुए नहीं हैं। वे किसी भी हद तक जा सकते हैं।

Posted By: Vikash Gaur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस