नई दिल्ली, एजेंसी। भारतीय हाकी टीम के स्टार ड्रैग फ्लिकर हरमनप्रीत सिंह ने कहा कि कामनवेल्थ गेम्स के फाइनल में आस्ट्रेलिया से मिली हार को पचाना मुश्किल है, लेकिन टीम को आगे बढ़ना होगा। आस्ट्रेलिया ने भारत को फाइनल मैच में 7-0 से हराकर स्वर्ण पदक जीता था।

भारतीय हाकी टीम के उप-कप्तान हरमनप्रीत ने कहा कि इतने बड़े अंतर से मिली हार को पचाना मुश्किल है। पूरी टीम इस प्रदर्शन से निराश है, लेकिन इस कड़वी हार को भुलाकर आगे बढ़ना जरूरी है। जैसे मुख्य कोच ने कहा है कि हम आस्ट्रेलिया जैसी टीम का ऊर्जा और लय में मुकाबला नहीं कर सके।

हरमनप्रीत ने कहा कि इन खेलों से हमने कई सबक लिए हैं जिन पर काम करना होगा। हम दो सप्ताह बाद शिविर में लौटने पर हर मैच का आकलन करेंगे और नए सिरे से शुरुआत करेंगे। हरमनप्रीत ने टूर्नामेंट में नौ गोल दागे और सर्वाधिक गोल करने वालों की सूची में वेल्स के जेरेथ फलरेंग के बाद दूसरे स्थान पर रहे।

उन्होंने कहा कि निजी तौर पर मेरे लिए ये खेल अच्छे रहे। कोविड-19 के बाद पहली बार हम इतने दर्शकों के सामने खेल रहे थे और काफी भारतीय भी मैच देखने आए थे। मेरी पत्नी भी बर्मिंघम आई थी और पहली बार मुझे किसी बड़े टूर्नामेंट में खेलते हुए स्टेडियम में उसने देखा। यह कामनवेल्थ गेम्स में मेरा पहला पदक है तो मेरे लिए ये खेल खास थे। आपको बता दें कि कामनवेल्थ 2022 में पुरुष हॉकी के फाइनल मैच में भारतीय टीम को ऑस्ट्रेलिया के हाथों एक तरफ हार मिली थी। भारतीय टीम इस मैच के दौरान एक बार भी इस टीम पर हावी नहीं हो पाई थी। भारतीय टीम अब अक्टूबर में एफआइएच प्रो लीग खेलेगी।

Edited By: Sanjay Savern