नई दिल्ली, जेएनएन।  एशियन गेम्स 2018 में भारतीय महिला हॉकी टीम जैसे ही फाइनल में पहुंची भारत का कम से कम सिल्वर मेडल तो पक्का हो ही गया। भारत ने चीन को 1-0 से हराकर फाइनल में जगह बनाई। फाइनल में टीम इंडिया का सामना जापान से होगा।

सेमीफाइनल मुकाबले में भारत ने गोल पर 12 शॉट्स लिए जिसमें से केवल 5 ओरन प्ले के लिए रहे। वहीं भारतीय टीम को इस अहम मुकाबले में 7 पेनल्टी कॉर्नर मिले हालांकि वह केवल 1 का ही फायदा उठा पाई। चीन को भी पेनल्टी कॉर्नर के रूप में गोल करने का सुनहरा अवसर मिला था लेकिन वह भी इसमें फेल रही। भारतीय टीम साल 1998 के बाद अब फाइनल में पहुंची है जो निश्चित तौर पर एक बडी़ कामयाबी है।

भारत और मैच का इकलौता गोल गुरजीत कौर ने किया। मैच के 52वें मिनट में भारत को पेनल्टी कॉर्नर मिला, जिसे गुरजीत ने शानदार तरीके से ड्रैग फ्लिक किया और ना केवल भारत का खाता खोला बल्कि भारत के लिए यह विजय गोल रहा।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Lakshya Sharma