जागरण टीम, ऊना/अम्ब/बड़ूही : जिलेभर में विभिन्न धार्मिक गतिविधियों में हिस्सा लेकर लौटे मुस्लिम समुदाय के करीब 23 लोगों को स्वास्थ्य विभाग ने होम क्वारंटाइन किया है। इनमें एक युवक पर दिल्ली में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में हिस्सा लेने की भी आशंका है। अम्ब के कुठेड़ा खैरला तथा नकड़ोह में करीब 20 लोगों को होम क्वारंटाइन किया है। एक मौलवी को ऊना के बसाल में उसके घर के समीप मस्जिद में क्वारंटाइन किया गया है। वहीं अम्ब के दिलवां में भी मुस्लिम समुदाय के एक व्यक्ति को मस्जिद में क्वारंटाइन किया गया है।

बसाल गांव से करीब चार महीने तक धार्मिक गतिविधियों में हिस्सा लेकर लौटे एक मौलवी को स्वास्थ्य विभाग ने गांव में बनी मस्जिद में होम क्वारंटाइन किया है। यह मौलवी पांच नवंबर को धार्मिक गतिविधियों में हिस्सा लेने के लिए घर से रवाना हुआ था। मौलवी 25 फरवरी को गाजियाबाद से नालागढ़ पहुंच गया था। 31 मार्च को ही वह नालागढ़ से पैदल घर के लिए रवाना हुआ था।

उपमंडल अम्ब में रह रहे प्रदेश के अलग-अलग जिलों से संबंध रखने वाले 20 लोगों को होम क्वारंटाइन किया गया है। ये सभी मुस्लिम समुदाय से संबंध रखते हैं। इनमें से दो लोगों ने तो 10 मार्च को जिला में पहुंचने की बात को माना है जबकि बाकी लोग जिला में कब से रह रहे हैं, इसका पता अभी नहीं चल पाया है। इनमें से 12 लोगों को नकड़ोह स्थित एक मस्जिद में तथा आठ लोगों को कुठेढ़ा खैरला में उनके रिश्तेदारों के यहां होम क्वारंटाइन किया है। इनमें कुछ लोगों के तबलीगी जमात के लोगों से संपर्क में आने या निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के मरकज में एकत्रित होने का संदेह किया जा रहा था।

ये सब जिला से संबंध न रखते हुए पड़ोसी जिलों के रहने वाले हैं। इनमें कुछ लोग अपने रिश्तेदारों के यहां, जबकि कुछ लोग एक मस्जिद में रह रहे थे। ये सभी लोग मंडी, सुंदरनगर और पांवटा साहिब के बताए जा रहे हैं। प्रशासन इन लोगों की एक महीने की ट्रेवल हिस्ट्री की जांच करके यह पता लगाने का प्रयास कर रहा है कि तबलीगी जमात के कार्यक्रम में भाग लेने वाला कोई व्यक्ति इनके संपर्क में तो नहीं आया है। होम क्वारटाइन किए गए कुछ लोगों की मेडिकल जांच हो चुकी है जबकि कुछ का बुधवार को मेडिकल टेस्ट होगा।

ग्राम पंचायत चौकिमन्यार के एक युवक जो दिल्ली में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल हुआ था और 20 मार्च को दिल्ली से ट्रेन के द्वारा नकड़ोह मस्जिद में पहुंचा था। यह युवक नकड़ोह में 30 मार्च तक रहा और 31 मार्च को चौकिमन्यार घर पहुंचा है। इस युवक के द्वारा किसी को भी आने की जानकारी उपलब्ध नहीं कराई थी। इस युवक की तलाश के लिए स्वास्थ्य महकमे और प्रशासन को काफी मशक्कत ाका सामना करना पड़ा है। इस युवक को फिलहाल होम क्वारंटाइन किया गया है।

सोहारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के मेडिकल आफिसर गौरव धीमान ने इसकी पुष्टि की है कि इस युवक ने दिल्ली में धार्मिक समारोह में हिस्सा लेने की बात स्वीकार की है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस