Move to Jagran APP

Himachal News: चुनाव रिहर्सल में हार्ट अटैक से कर्मचारी की मौत मामले पर संघ ने उठाई आवाज, मुआवजा-नौकरी देने की रखी मांग

Himachal News हिमाचल में चुनाव रिहर्सल में हार्ट अटैक से मारे गए अरविंद चौधरी के पक्ष में संघ ने आवाज उठाई है। उन्‍होंने कर्मचारी अरविंद चौधरी के परिवार को मुआवजा और सरकारी नौकरी देने की मांग की है। ताकि समस्त कर्मचारियों में चुनाव आयोग द्वारा कर्तव्य निर्वहन में हुई कोताही पर की जा रही कार्यवाही की निष्पक्षता का संदेश सभी तक पहुंचे।

By Rajan Punir Edited By: Himani Sharma Mon, 03 Jun 2024 07:22 PM (IST)
चुनाव रिहर्सल में हार्ट अटैक से कर्मचारी की मौत मामले पर संघ ने उठाई आवाज (फाइल फोटो)

जागरण संवाददाता, नाहन। लोकसभा चुनाव की अंतिम रिहर्सल के दौरान 29 मई को नाहन पीजी कॉलेज परिसर में कृषि विभाग के कर्मचारी अरविंद कुमार की मौत पर जिला सिरमौर एनपीएसईए संघ ने चुनाव आयोग से परिवार के लिए उचित मुहावरे तथा एक सदस्य के लिए नौकरी की मांग की है।

नाहन में जारी प्रेस विज्ञप्ति में जिला अध्यक्ष सुरेंद्र पुंडीर तथा राजगढ़ खंड अध्यक्ष प्रवीण शर्मा ने चुनाव आयोग से अरविंद कुमार के परिवार को तुरंत उचित मुवाअजे तथा परिवार के एक सद्स्य को सरकारी नौकरी देने की मांग को है।

आयोग से उचित कार्रवाई की उठी मांग

साथ ही अरविंद कुमार की मौत के लिए जिम्मेदार सहायक निर्वाचन अधिकारी पच्छाद, सहायक निर्वाचन अधिकारी नाहन और जिला निर्वाचन अधिकारी जो भी जिम्मेवार हो, उसके खिलाफ भी आयोग से उचित कार्रवाई की मांग की गई है।

निष्‍पक्षता से जांच करने की मांग

जिला सिरमौर के सभी विभागों के कर्मचारियों एवं अधिकारियों का प्रतिनिधित्व करने वाले एनपीएसईए संघ के जिला अध्यक्ष सुरेंद्र पुंडीर ने मुख्य चुनाव आयोग से इस प्रकरण की निष्पक्ष जांच करने तथा संबंधित जिम्मेदार अधिकारियों की संवेदनहीनता पर उचित कार्यवाही की मांग की है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल की चार लोकसभा और छह विधानसभा सीटों के लिए मतगणना कल, दोपहर बाद साफ होगी नतीजों की स्थिति

ताकि समस्त कर्मचारियों में चुनाव आयोग द्वारा कर्तव्य निर्वहन में हुई कोताही पर की जा रही कार्यवाही की निष्पक्षता का संदेश सभी तक पहुंचे। साथ ही भविष्य में इस प्रकार की दुर्भाग्यपूर्ण लापरवाही की पुनरावृति पर अंकुश लग सके।

संघ के जिला अध्‍यक्ष ने अधिकारियों पर लगाए आरोप

एनपीएसईए संघ के जिला अध्यक्ष सुरेंद्र पुंडीर ने कहा कि लोकसभा के चुनाव तो समाप्त हो गए। मगर इस लोकसभा के चुनाव के दौरान कर्मचारियों तथा अधिकारियों के कर्तव्य निर्वहन में हुई कोताही को लेकर जिम्मेदारी निर्धारण में समरूपता पर प्रश्न उठता है। क्योंकि जहां विकट परिस्थितियों तथा आधारभूत सुविधाओं के वावजूद सम्पूर्ण चुनाव कार्य पूर्ण करवाने के उपरांत थके हारे हालात में सामान जमा करवाने की जल्दबाजी में हुई छोटी-मोटी कहासुनी पर भी कर्मचारियों को निलंबित किया जा रहा है।

चुनाव रिहर्सल के दौरान कर्मचारी की हो गई थी मौत

वहीं कर्मचारी की चुनाव रिहर्सल के दौरान हुई मौत पर जिला के चुनाव अधिकारी मौन है। नाहन पीजी कॉलेज में जहां सहायक पीठासीन अधिकारी अरविंद कुमार की चुनाव रिहर्सल के दौरान ही मृत्यु हो गई। अरविंद कुमार कृषि विभाग राजगढ़ खंड में कृषि विस्तार अधिकारी के पद पर नियुक्त थे। जो पिछले 5 वर्षों से फेफड़े तथा श्वास को बीमारी के कारण पीजीआई चंडीगढ़ से समय समय पर उपचार करवा रहे थे।

यह भी पढ़ें: Himachal News: ओक ओवर में कल CM सुक्‍खू की कैबिनेट बैठक, चुनाव नतीजों की पल-पल की जानकारी लेंगे मुख्‍यमंत्री

इसके अतिरिक्त कुछ पारिवारिक कारणों से भी वह मानसिक रुप से परेशान चल रहे थे। अरविंद कुमार ने सहायक निर्वाचन अधिकारी पच्छाद को पहली रिहर्सल में ही अस्वस्थता तथा पारिवारिक कारणों से चुनाव कार्य के कुशल संचालन में अपनी असमर्थता बताते हुए चुनाव कार्य से मुक्त करने हेतु निवेदन दिया। मगर उस निवेदन पर कोई गौर नहीं हुआ। जबकि दर्जनों सक्षम कर्मचारियों को कार्यभार मुक्त किया गया।

जिला निर्वाचन अधिकारी सिरमौर से मंगवाई जाएगी रिपोर्ट

नाहन में आयोजित हुई आखिरी चुनाव रिहर्सल में अरविंद कुमार ने सहायक निर्वाचन अधिकारी नाहन से पुनः कार्यमुक्त करने हेतु दो बार व्यक्तिगत रूप से मंच पर जा कर निवेदन किया। मगर कोई उचित कार्यवाही नही हुई, अधिक परेशानी के कारण अरविंद कुमार को पंडाल में ही चक्कर आ गया तथा पीजीआई उपचार के दौरान उसी दिन उनका देहांत हो गया।

उधर हिमाचल प्रदेश के मुख्य चुनाव आयुक्त मनीष गर्ग ने बताया कि रिहर्सल में कर्मचारी की मौत के संदर्भ में जिला निर्वाचन अधिकारी सिरमौर से रिपोर्ट मंगवाई जाएगी। उसके बाद मृतक कर्मचारियों के परिवार को उचित मुआवजा दिलवाया जाएगा।