संवाद सूत्र, नालागढ़ : औद्योगिक नगरी नालागढ़ में रोपड़ मार्ग पर न्यू बस स्टैंड के पीछे स्थित सुरेंद्रा स्कूल के समीप बनी 22 झुग्गियां आग लगने से राख हो गई। आग इतनी भयंकर थी कि झुग्गियों में रखा खाने पीने का सामान, कपड़े, गहने, पंखा, कूलर, मोबाइल फोन, स्कूटी, साइकिल आदि सब जल गए। आग में एक गाय, एक बकरी व 12 मुर्गे झुलस कर मर गए। इसके अलावा अन्य राज्यों के दो लोग भी आंशिक रूप से झुलस गए।

आग लगने का कारण अभी तक पता नहीं चल पाया है। सूचना मिलते ही फायर ब्रिगेड नालागढ़ की टीम ने मौके पर पहुंच आग पर काबू पाया। तहसीलदार नालागढ़ और पुलिस मौके पर पहुंची। प्रशासन की ओर से पीड़ित परिवारों को फौरी राहत राशि भी प्रदान की गई है। पीड़ितों को नगर परिषद के कम्युनिटी हाल में रखा गया है।

नालागढ़ के न्यू बस स्टैंड के समीप झुग्गियों में आग लग गई जिससे वहां रखा सामान राख हो गया। यह आग एक झुग्गी से भड़की और सभी झुग्गियां इसकी चपेट में आ गई। आग फैलती देख लोग अपनी जान बचाने के लिए भागे लेकिन सामान को नहीं निकाल पाए। आग से अशोक कुमार, कामेश्वर, ललित, भरत, सीता राम, जवाहर, राम प्रसाद, वचन, दीनू, राज कुमार, सतनाम, मेहर सिंह, विजय, मोहम्मद जलील, बरूणों देवी, सुलेष सिंह, राज कुमार, परमीला देवी, इसमाइल, मेहरद्दीन बुलईवास की झुग्गियां राख हो गई। आग से मोहम्मद जलील की गाय मर गई जबकि एक झुलस गई। एक भैंस का कटड़ा व 12 मुर्गे भी जल गए। ललित की बकरी व अजय कुमार की स्कूटी राख हो गई। आग से कामेश्वर व श्याम सहानी आंशिक रूप से झूलस गए। फायर ब्रिगेड की टीम ने करीब तीन घंटे बाद आग पर काबू पाया। आग से 10 लाख की संपत्ति जली

फायर आफिसर जयपाल सिंह ने बताया कि आग से करीब 10 लाख रुपये की संपत्ति राख हो गई। तहसीलदार नालागढ़ ऋषभ शर्मा ने कहा कि आग से बेघर हुए कामगारों को अस्थायी तौर पर नगर परिषद के सामुदायिक भवन में शिफ्ट किया जा रहा है। उन्हें वहां पर राशन भी मुहैया करवाया जाएगा। उन्होंने बताया कि नुकसान का आकलन किया जा रहा है। जिन लोगों को ज्यादा नुकसान हुआ है उन्हें पांच हजार और अन्य लोगों को तीन हजार रुपये मुआवजा राशि दी गई है। लोगों की मदद के लिए आगे आए समाजसेवी

नालागढ़ में झुग्गियों में आग की घटना के बाद पीड़ितों की सहायता के लिए समाजसेवियों ने हाथ आगे बढ़ाए हैं। आग लगने से बेघर हुए लोगों को नाश्ता, चाय, पुराने कपड़ों की मदद की गई है। विनोद शर्मा, अजीत सिंह, जुगराल, बीर सिंह सहित अन्य स्थानीय लोगों ने लोगों की मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाए हैं। नालागढ़ के समाजसेवी डा. अजीत पाल जैन ने प्रत्येक पीड़ित परिवार को 1100 रुपये प्रति परिवार राशि एसडीएम नालागढ़ के माध्यम से मुहैया करवाई। प्रशासन ने सभी सहयोगकर्ताओं का आभार प्रकट किया।

Edited By: Jagran