नाहन, जेएनएन। पंजाब के जालंधर का रहने वाला सजायाफ्ता कैदी जो कि दुष्कर्म की सजा काट रहा था, मुकेश कुमार 15 अगस्त दोपहर बाद नाहन सेंट्रल जेल से फरार हो गया। देर शाम तक जेल कर्मी दोपहर फरार हुए कैदी को तलाश करते रहे । मगर जब वह नहीं मिला। तो शुक्रवार तड़के नाहन पुलिस थाना सदर में फरार कैदी के भागने का मामला दर्ज करवाया गया।

फिलहाल इस मामले में बेहद ही गोपनीयता बरती जा रही है। अहम बात यह है कि कैदी ने आजादी के दिन अपनी आजादी भी तय कर ली। हालांकि अधिकारिक तौर पर कोई कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। मगर पुख्ता सूत्रों के मुताबिक जेल का सुरक्षाकर्मी ही उसे बाहर लेकर आया था। इसके पीछे अस्पताल में जांच की बात कही जा रही है। सवाल यह भी उठ रहा है कि पुलिस की सुरक्षा के बगैर कैदी को बाहर कैसे लाया गया। सूत्रों का यह भी कहना है कि पहले कई घंटों तक जेल के सुरक्षाकर्मी अपने स्तर पर ही कैदी की तलाश करते रहे। मगर जब सफलता नहीं मिली, तो बीती रात मौखिक तौर पर पुलिस को सूचित कर दिया। बताया जा रहा है कि स्वतंत्रता दिवस के दिन फरार कैदी की चंद महीनों की सजा ही बची हुई थी। फरार कैदी मुकेश पंजाब का रहने वाला बताया जा रहा है। कैदी के फरार होने के बाद जेल प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है।

हालांकि तस्दीक नहीं की जा रही, लेकिन माना यह भी जा रहा है कि सुरक्षाकर्मी को पूरी तरह से विश्वास में लिया गया। फरार कैदी सैंट्रल जेल में एनडीपीएस व दुष्कर्म एक्ट के तहत सजा काट रहा था। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक वीरेंदर ठाकुर ने कैदी के फरार होने का मामला दर्ज होने की पुष्टि की है।

हिमाचल प्रदेश की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Babita kashyap