जागरण संवाददाता, नाहन : सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग की प्रधान सचिव अनुराधा ठाकुर ने विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि बरसात में जल स्रोतों की सफाई का कार्य निरंतर किया जाए। इससे जलजनित रोगों के फैलने की संभावना कम हो सकेगी। वीरवार को परिधि गृह नाहन में सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग वृत्त के अधीनस्थ जिला सिरमौर व सोलन के अधिकारियों की बैठक प्रधान सचिव की अध्यक्षता में हुई। उन्होंने कहा कि नाहन वृत्त के अंतर्गत चालू वित्तीय वर्ष के दौरान 20 वाटर ट्रीटमेंट प्लाट एवं फिल्टर बेड निर्मित करने का लक्ष्य रखा गया है। इनमें से 13 वाटर ट्रीटमेंट प्लाट जिला सिरमौर में स्थापित होंगे। अनुराधा ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिन पेयजल व सिंचाई योजनाओं के निर्माण कार्य 70 प्रतिशत से अधिक हो चुका है, ऐसी योजनाओं को प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण किया जाए ताकि लोगों को इन योजनाओं का लाभ मिल सके। नाहन की दो पुरानी पेयजल योजनाएं नेहरस्वार और खैरी के सुधारीकरण का कार्य प्रगति पर है। इन योजनाओं में पाईप इत्यादि बदलने व अन्य कार्य को पूरा करने के लिए धनराशि का प्रावधान कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी कनिष्ठ अभियंताओं के फील्ड कार्यालयों में चरणबद्ध तरीके से कंप्यूटर उपलब्ध करवाए जाएंगे। इसके अतिरिक्त विभाग में विभिन्न श्रेणियों के रिक्त पड़े पदों को चरणबद्ध तरीके से भरा जा रहा है ताकि फील्ड में कार्य सुचारू रूप चल सके। नाहन शहर के लिए ददाहू से निर्मित की जा रही उठाऊ गिरि पेयजल योजना के कार्य को युद्धस्तर पर करने के निर्देश दिए। इसके अलावा नाहन शहर में सीवरेज योजना की डीपीआर तैयार करके सरकार को भेजने के भी निर्देश दिए गए। राजगढ़ शहर में सीवरेज योजना के लिए डीपीआर तैयार कर ली गई है।

बैठक के दौरान उपायुक्त बीसी बडालिया ने कहा कि स्वच्छ पेयजल के रोजमर्रा में इस्तेमाल और घरों की टंकियों की सफाई करने बारे लोगों को जागरूक किया जाएगा। इसके लिए विशेष अभियान आरंभ किया जाए। इस अवसर पर एसई एसके धीमान, एक्सईएन नाहन राजीव महाजन, एक्सईएन पावटा नरेश धीमान, एक्सईएन नौहराधार अरशद रहमान, एक्सईएन सोलन हेमंत कुमार तनवर, एक्सईएन नालागढ़ विजय कुमार डटवालिया आदि उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप