जागरण संवाददाता, नाहन : छह हजार करोड़ के टैक्स घोटाले में स्टेड सीआइडी की टीम ने मंगलवार को नाहन आबकारी एवं काराधान विभाग के कार्यालय व स्टोर में दबिश दी। इस दौरान शिमला से नाहन पहुची टीम ने इडियन टेक्नोमैक कंपनी के दस्तावेजों को खंगाला। विभागीय सूत्रों की माने तो सीआइडी के हाथ कई महत्वपूर्ण दस्तावेज लगे है। हालांकि इस बारे में टीम कुछ नहीं कह रही। विदित रहे कि पावटा के जगतारपुर स्थित इडियन कंपनी के पदाधिकारियों ने फर्जी दस्तावेजों के सहारे आबकारी एवं काराधान विभगा की आखों में धूल झोकते हुए प्रदेश सरकार को हजारों करोड़ रुपये का चूना लगाया है। आबकारी एवं कराधान विभाग ने फरवरी 2014 में कंपनी को सील किया था। कंपनी को सील हुई चार वर्ष से अधिक का समय बीत चुका है, मगर प्रदेश सरकार इस घोटाले में अभी तक कोई रिकवरी नहीं कर पाई है और न ही इस घोटाले के प्रमुख सूत्रधार (कंपनी के एमडी राकेश शर्मा) को पकड़ पाई है। संदीप धवल, पुलिस अधीक्षक, सीआइडी ने कहा कि सीआईडी की टीम ने रूटीन जाच के तहत मंगलवार को नाहन में विभाग के कार्यालय व स्टोर में इडियन टेक्नोमैक कंपनी के दस्तावेजों की जाच की। जाच में क्या सामने आया है, इसकी जानकारी अभी नहीं दी जा सकती।

Posted By: Jagran