संवाद सूत्र, राजगढ़ : औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान राजगढ़ में सोमवार को एंटी रैगिंग पर वर्कशॉप हुई। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रधानाचार्य नवीन कुमारी ने की। इस अवसर पर राजगढ़ पुलिस के हेड कांस्टेबल राकेश ठाकुर मुख्य वक्ता रहे। प्रधानाचार्य नवीन कुमारी ने बताया की संस्थान में एंटी रैगिंग कमेटी बनी हुई है, जो किसी भी रैगिंग की शिकायत पर चौबीस घटे में कार्रवाई करती है। ऐसी शिकायत सिद्ध होने पर आरोपित को संस्थान से निलंबित किया जाएगा और तीन साल के लिए किसी भी सरकारी संस्थान में उसे प्रवेश नहीं मिलेगा। प्रधानाचार्या ने बताया कि संस्थान परिसर से बाहर भी यदि किसी छात्र के आवास पर जाकर उसे प्रताड़ित किया तो उसके लिए भी दंड का प्रावधान है। यदि कोई छात्र अपने ऊपर लगाए आरोपों से संतुष्ट नहीं है तो वो लिखित प्रार्थना पत्र देकर दोबारा जाच की माग कर सकता है। हेड कांस्टेबल राकेश ठाकुर ने बताया कि अब रैगिंग के खिलाफ कठोर कानून बने हैं। रैगिंग करने पर तीन साल की सजा और 50 हजार रुपये जुर्माना सहित अन्य किसी सरकारी संस्थान में दाखिला नहीं मिलेगा। यदि पीड़ित नाबालिग है तो पोस्को के अंतर्गत भी कार्रवाई होगी। राकेश ठाकुर ने राजगढ़ क्षेत्र में बढ़ती नशे की लत पर चिंता जताई। उन्होंने छात्रों से नशे से दूर रहने, गुड़िया हेल्प लाइन और शक्ति बटन एप की भी जानकारी दी। कोई भी संकट आने पर शक्ति बटन दबाने पर नजदीकी पुलिस मोबाइल फोन की लोकेशन पर पहुंच जाएगी। इसके साथ विद्यार्थियों को ट्रैफिक नियमों के प्रति भी जागरूक किया। कार्यक्रम में नितिन वल्याट, विप्लव ठाकुर व रोबिन शर्मा आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran