जागरण संवाददाता, शिमला : हिमाचल में जाते-जाते मानसून कई जगह भारी बारिश के साथ जख्म भी दे रहा है। प्रदेश में शुक्रवार को भी कई जगह भारी बारिश से नुकसान की सूचना है। बारिश के कारण तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई है। पिछले 24 घंटे के दौरान हिमाचल में कुछेक स्थानों पर भारी बारिश होने से भूस्खलन के कारण 60 सड़कें बंद हो चुकी हैं। मानसून की बारिश के कारण लोक निर्माण विभाग को अब तक 716 करोड़ 72 लाख का नुकसान हो चुका है।

शुक्रवार को हुई बारिश की वजह से प्रदेश के कई हिस्सों में नुकसान की सूचना है। चंबा जिले के भरमौर में लगातार बारिश से हड़सर-धन्छो पैदल मार्ग जलधार मंदिर के पास भूस्खलन की भेंट चढ़ गया। इससे हड़सर-कुगति मार्ग व मणिमहेश के लिए दोनों पैदल मार्ग अवरुद्ध हो गए हैं। इससे मणिमहेश यात्रियों को असुविधा का सामना करना पड़ा।

ऊना जिला में अम्ब के ठठल गांव में बारिश से डेढ़ लाख रुपये की आलू व मक्की की फसल बर्बाद हो गई। किसानों ने दो घंटे तक चक्का जाम किया क्योंकि सडक निर्माण के दौरान बारिश का पानी खेतों में घुस गया था। पुलिस ने बाद में मार्ग बहाल करवाया।

मंडी जिले की बालीचौकी तहसील की सोमगाड़ पंचायत में बिजली गिरने से दो लोग आंशिक रूप से झुलस गए। इससे शलवाड़ गांव में स्थापित विद्युत ट्रांसफार्मर भी जल गया, जिससे पूरा क्षेत्र अंधेरे में डूब गया है और कई घरों के विद्युत उपकरण भी जल गए हैं।

उधर, शिमला में सुबह की शुरुआत हल्की धूप के साथ हुई थी लेकिन दिन के समय भारी बारिश शुरू हो गई और देर शाम तक चलती रही। बारिश के कारण प्रदेश के अधिकतम व न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई जिससे राज्य भर में सितंबर माह में भी अक्टूबर जैसी ठंड महसूस की जा रही है।

-------------------

12 से फिर भारी बारिश हिमाचल में अब तक मानसून की बारिश सामान्य से अधिक हो चुकी है। मौसम विभाग के अनुसार शनिवार को किन्नौर, चंबा जिलों में भारी बारिश होने की संभावना जताई गई है। लेकिन रविवार को मौसम में सुधार आने की संभावना है। यह राहत भी अधिक समय के लिए नहीं होगी 12 सितंबर से पश्चिमी हवाएं प्रभावी होंगी जिससे राज्यभर में बारिश का क्रम जारी हो जाएगा। इस बाबत मौसम विभाग द्वारा 12 व 13 सितंबर को भारी बारिश की चेतावनी भी जारी कर दी है। मौसम विभाग के अनुसार पिछले 24 घंटे के दौरान हिमाचल प्रदेश में मानसून सक्रिय रहा। हिमाचल प्रदेश के कुछेक स्थानों पर वर्षा हुई। पिछले 24 घंटों के दौरान न्यूनतम तापमान में कोई खास परिवर्तन नहीं हुआ जबकि अधिकतम तापमान 2 से 3 डिग्री सेल्सियस कम रहा। सबसे कम न्यूनतम तापमान केलंग में 10.5 डिग्री सेल्सियस व सबसे अधिक उच्चतम तापमान हमीरपुर में 35.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है।

------------

कहां कितनी बारिश

नयनादेवी 61 मिलीमीटर

झंडूता 60 मिलीमीटर

सुन्नी भज्जी 32 मिलीमीटर

कसौली 28 मिलीमीटर

गगल (कांगड़ा) 25 मिलीमीटर

अर्की 21 मिलीमीटर

Posted By: Jagran