राज्य ब्यूरो, शिमला : कांगड़ा में आए भूकंप की 114वीं वर्षगांठ पर इस प्राकृतिक आपदा से बचाव के तरीके बताए जाएंगे। राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ और केंद्रीय विश्वविद्यालय के सहयोग से दो दिवसीय कार्यशाला तीन व चार अप्रैल को धर्मशाला में लगाई जाएगी। सरकारी कर्मचारियों और आम लोगों में जागरूकता पैदा करने के लिए इस आयोजन के दौरान शेक आउट ड्रिल, आपदा के दौरान मरीजों को किस तरह अस्पताल पहुंचाया जाता है और आपदा में फंसे लोगों को निकालने की तकनीक बताई जाएगी। राजस्व विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव मनीषा नंदा के अनुसार लोगों को इस प्राकृतिक आपदा के दौरान बचाव के तरीके बताए जाएंगे।

गौर रहे कि वर्ष 1905 में कांगड़ा में आए भूकंप में 18,815 लोगों की मौत हो गई थी। 1975 में किन्नौर में आए भूकंप में 60 लोगों ने जान गंवाई थी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस