शिमला, जेएनएन। पूर्व मुख्य संसदीय सचिव एवं जवाली के पूर्व विधायक नीरज भारती शुक्रवार को शिमला में पुलिस के सामने पेश हुए। थाने से बाहर जाते समय उनके खिलाफ शिकायत करने वाली भाजपा के महिला मीडिया के सोशल मीडिया की प्रदेश संयोजक प्रतिभा बाली ने उन पर जूता फेंका। हालांकि भारती को जूता नहीं लगा। 

प्रतिभा बाली के खिलाफ सोशल मीडिया में आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर दर्ज मामले में पूछताछ के लिए भारती को शुक्रवार सुबह 10 बजे ढली थाने में बुलाया गया था। तय समय पर वह वहां नहीं पहुंचे। दोपहर बाद भारती फेसबुक पर लाइव हुए। इस पर महिला पुलिस थाना बीसीएस के सामने पुलिस ने भारती की गाड़ी सवा तीन बजे रोक दी। 

भारती ने महिला पुलिस कर्मी से कहा कि उन्हें ढली थाने में बुलाया गया है। उन्हें यहां क्यों रोका जा रहा है। बाद में डीएसपी दिनेश शर्मा मौके पर पहुंचे और भारती को कड़ी सुरक्षा में महिला थाने में ले जाया गया। वहां पुलिस ने पहले ही तीन पन्नों की प्रश्नावली तैयार रखी थी। इसमें से भारती से 30 प्रश्न पूछे गए। डीएसपी ने सभी सवालों का लिखित जवाब देने को कहा। उनसे करीब साढ़े तीन घंटे तक पूछताछ हुई। पुलिस ने भारती से ढली थाने में न आने का कारण पूछा। इसकी वह ठोस वजह नहीं बता पाए। पुलिस ने कहा कि उन्हें अब जब भी जांच के लिए बुलाया जाए तो समय पर सही स्थान पर पहुंचना होगा। उनका मोबाइल फोन जब्त कर लिया गया है। वहीं, भाजपा के कुछ कार्यकर्ता भारती के खिलाफ उग्र प्रदर्शन करते रहे। कुछ कार्यकर्ताओं ने उन्हें पकड़ना चाहा मगर उन तक पहुंच नहीं सके। हालांकि थाने से निकलने के एक घंटे बाद भारती ने फिर से फेसबुक पर स्टेटस अपलोड किया।

मैं थक गया, पानी पिला दो: पुलिस पूछताछ के दौरान पूर्व सीपीएस थक गए। करीब सवा छह बजे वह सवालों का जवाब लिख रहे थे। उन्होंने पुलिस अधिकारी से कहा कि वह लिखते-लिखते थक गए हैं, पानी तो पिला दो। इस पर उन्हें पानी पिलाया गया। सात बजे के करीब भारती को पुलिस ने भारी सुरक्षा के बीच छोड़ा। पुलिस ने सारे सवाल पूर्व सीपीएस की सोशल मीडिया पर की गई पोस्टों से जुड़े ही पूछे।

पूर्व सीपीएस नीरज भारती से साढ़े तीन घंटे पूछताछ पुलिस ने भारती को वीआइपी ट्रीटमेंट दी है। उन्हें ढली थाने में बुलाया था तो पूछताछ वहां क्यों नहीं करवाई गई। महिला थाने में भारी सुरक्षा के बीच पूछताछ हुई। महिलाओं के खिलाफ टिप्पणी करने वाले लोगों को पुलिस अगर ऐसे ही वीआइपी ट्रीटमेंट देगी तो जनता न्याय की मांग कहां करेगी। थाने के भीतर कांग्रेस के कुछ लोगों को क्यो बिठाया गया था। पुलिस को किसका डर सता रहा था? 

-प्रतिभा बाली, शिकायतकता

पुलिस ने भारती को सशर्त नोटिस पर छोड़ा है। इसके तहत अपमानजनक टिप्पणी करने पर उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा। अगर शर्तो का पालन नहीं किया तो तुरंत गिरफ्तार किया जाएगा।

-ओमापति जम्वाल, पुलिस अधीक्षक, शिमला

Posted By: Babita