मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

शिमला, राज्य ब्यूरो। आयुर्वेद चिकित्सक मरीज का पहले जांच करेंगे और उसके बाद उसके रोग के मुताबिक योग सिखाएंगे। आयुर्वेद विभाग की ओर से इसके लिए आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। अभी तक पचास अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है और वर्तमान में शिमला में पंद्रह आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी योग का शिक्षण ले रहे हैं।

विभाग के मुताबिक जुलाई में लोगों को आयुर्वेदिक अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों में उपचार के लिए आने वाले मरीजों को योग को प्रशिक्षण देना आरंभ कर दिया जाएगा। प्रशिक्षण ले चुके चिकित्सा अधिकारी अब अपने अपने ब्लॉक में जाकर अपने आयुर्वेद चिकित्सकों को यह प्रशिक्षण देंगे।

प्रदेश में 25 आयुर्वेदिक अस्पताल और 1204 स्वास्थ्य केंद्र हैं। इनमें से अधिकतर स्वास्थ्य केंद्र ग्रामीण क्षेत्रों में हैं। ऐसे में यदि कोई स्वास्थ्य व्यक्ति आयुर्वेदिक अस्पताल या स्वास्थ्य केंद्र में जाकर योग सीखना चाहता है तो चिकित्सक उसे भी योग आसनों के बारे में बताएगा। इसके अलावा आयुर्वेदिक चिकित्सक आसपास के स्कूलों और पंचायतों में जाकर भी योग के बारे में लोगों और बच्चों को जागरूक करेंगे।

यह भी पढ़ें: अब बड़े अधिकारियों तक पहुंचेगी सीबीआइ जांच

यह भी पढ़ें: आंगनबाड़ी सहायिका के पद के लिए मांगे आवेदन

Posted By: Babita Kashyap

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप