जागरण संवाददाता, शिमला : स्वस्थ समाज के निर्माण के लिए शहर को साफ रखना जरूरी है। इसी ओर एक कदम दैनिक जागरण ने नगर निगम शिमला के साथ बढ़ाते हुए शहर में स्वच्छ शिमला स्वस्थ शिमला अभियान शुक्रवार को शुरू किया। प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज (आइजीएमसी) से इस अभियान की लांचिग नगर निगम शिमला की मेयर सत्या कौंडल ने की। इस दौरान अस्पताल के एमएस डॉ. जनकराज भी मौजूद रहे।

पहले दिन अस्पताल के मुख्य द्वार के पास की सीढि़यां उतरकर पहाड़ी की सफाई की गई। यहां पहले तो सब साफ दिख रहा था, लेकिन जैसे ही निगम, आइजीएमसी और सिक्योरिटी के कर्मचारियों ने सफाई का काम शुरू किया तो छह बोरी कूड़ा एकत्र किया गया। निगम के कर्मचारियों ने इस कूडे़ को बाद में कूड़ा संयंत्र प्लांट में पहुंचा दिया। अच्छी पहल, सभी करें सहयोग : सत्या कौंडल

शहर की मेयर सत्या कौंडल ने शुक्रवार को सफाई अभियान को न केवल लांच किया, बल्कि इस दौरान सफाई अभियान में काफी समय तक हिस्सा भी लिया। इस दौरान उन्होंने दैनिक जागरण की पहल की सराहना करते हुए कहा कि हर शहरवासी को इसमें हिस्सा लेना चाहिए। शहर साफ होगा तो स्वस्थ समाज का निर्माण किया जा सकेगा। इसके लिए सभी को मिलझुल कर काम करना होगा। परिसर नहीं शहर को साफ करने की जरूरत : डॉ. जनक

आइजीएमसी के एमएस डॉ. जनकराज ने कहा कि परिसर ही नहीं पूरे शहर को साफ करने की जरूरत है। इसके लिए हर नागरिक को अपना जिम्मा समझना चाहिए। दैनिक जागरण के अभियान में खुद को शामिल करते हुए कहा कि आने वाले दिनों में परिसर में अस्पताल प्रशासन भी इस तरह की मुहिम चलाता रहेगा। ई-टायलेट होंगे शिफ्ट

आइजीएमसी में पुलिस चौकी के नीचे 12 लाख की लागत से ई-टायलेट बना रखे हैं। किनारे पर होने के कारण इसका ज्यादा इस्तेमाल नहीं हो पा रहा है। मौके पर ही एमएस ने मेयर के समक्ष इन्हें शिफ्ट करने का आग्रह किया। इस पर मेयर ने अधिकारियों को इन्हें शिफ्ट करने के निर्देश दिए। इसके लिए ऐसा स्थान तलाशा जाएगा, जहां ज्यादा से ज्यादा लोग इसका फायदा ले सकें।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस