Move to Jagran APP

Himachal Weather Update: आम जनता के लिए खोली गई अटल टनल, हिमाचल में फिर बिगड़ेगा मौसम; आंधी-बिजली गिरने का अलर्ट जारी

Himachal Weather Update हिमाचल में बारिश और बर्फबारी के बीच जनता के लिए अटल टनल खोल दी गई है। लेकिन बारिश और बर्फबारी का दौर अभी थमा नहीं है। जहां ऊपरी इलाकों में फिर हिमपात की आशंका है वहीं अब निचले इलाकों में आंधी और बिजली गिरने का अलर्ट जारी किया गया है। गौरतलब है कि हिमाचल में मौसम के उतार-चढ़ाव ने सब्जियों के दाम भी बढ़ा दिए हैं।

By Prince Sharma Edited By: Prince Sharma Published: Thu, 02 May 2024 09:13 AM (IST)Updated: Thu, 02 May 2024 09:13 AM (IST)
Himachal Weather Update: आम जनता के लिए खोली गई अटल टनल

राज्य ब्यूरो, शिमला। Himachal Weather Update: अटल टनल रोहतांग बुधवार को सभी पर्यटक वाहनों के लिए बहाल हो (Atal Tunnel Open For Tourist) गई है। मनाली-लेह व मनाली-जंस्कार मार्ग पर वाहनों की आवाजाही में मौसम बाधा बन गया है। लेह जाने के लिए दारचा में तीन दिन से सामान से भरे 10 से अधिक ट्रक खड़े हैं।

हिमपात से मटर की फसल को नुकसान

बुधवार को भी सभी दर्रों सहित लाहौल घाटी में बर्फ के फाहे गिरे। जंस्कार मार्ग बंद होने से बौद्ध भिक्षु तुबचीलिंग गोंपा नहीं आ पाए, जिस कारण छम नृत्य स्थगित कर दिया। लाहौल घाटी में हिमपात से मटर की फसल को नुकसान होने की आशंका है।

दस से अधिक अस्थायी दुकानों की छतें उड़ीं

बुधवार को तूफान से कुल्लू के ढालपुर मैदान में पीपल जातर मेले में लगी 10 से अधिक अस्थायी दुकानों की छत उड़ गई। जोगेंद्रनगर में वर्षा से सड़कें तालाब बन गईं। मौसम विभाग ने चार व पांच मई को प्रदेश के कुछ हिस्सों में आंधी चलने के साथ बिजली गिरने का अलर्ट जारी किया है।

यह भी पढ़ें- Anurag Thakur: रामलला के दर्शन करने पहुंचे अनुराग ठाकुर ने कांग्रेस पर बोला हमला, बताया कन्फ्यूज्ड और करप्ट पार्टी

कुछ स्थानों पर वर्षा हो सकती है। प्रदेश में अधिकतम तापमान में पांच से सात डिग्री सेल्सियस की गिरावट आई है। विभाग के निदेशक सुरेंद्र पाल का कहना है कि तापमान में अचानक वृद्धि और गिरावट की स्थिति लगातार बनी हुई है।

मौसम की मार झेल रहीं सब्जियां

वहीं खराब मौसम के चलते सब्जियां भी प्रभावित हो रही हैं। शिमला में सब्जी मंडी के अलावा उपनगरों में बिकने वाली सब्जियों व फलों के दाम में 10 से 20 रुपये अधिक वसूले जाते हैं।

विक्रेताओं का कहना है कि सब्जी मंडी से सब्जी की गाड़ी का किराया व ढुलाई के कारण अधिक दाम रखना हमारी मजबूरी होती है, लेकिन ग्राहकों को अधिक दाम चुकाने से उनका बजट बिगड़ जाता है।

यह भी पढ़ें- Himachal Politics: 'नहीं जरूरत किसी बॉलीवुड सितारे की, खुद में हूं स्टार', विक्रमादित्य सिंह ने कंगना रनौत पर भी किया कटाक्ष


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.