शिमला, राज्य ब्यूरो। प्रदेश में हो रही बारिश की वजह से 25 सड़कें अभी भी बंद हैं। मौसम विभाग ने सोमवार को प्रदेश के अधिकतर क्षेत्रों में जमकर बारिश होने की संभावना जताई है। इससे तापमान में गिरावट आएगी। वहीं रविवार को शिमला सहित सोलन, सिरमौर और धर्मशाला में बारिश रिकार्ड की गई। हालांकि अधिकतर क्षेत्रों में अधिकतम तापमान में तीन से चार डिग्री तक वृद्धि दर्ज की गई है। प्रदेश में बारिश की वजह से हो रहे भूस्खलन के कारण शिमला जोन में एक, मंडी जोन में 20 और कांगड़ा जोन में चार सड़कें बंद हैं। लोक निर्माण विभाग इन सड़कों को खोलने के प्रयास कर रहा है।

वहीं मौसम विभाग ने 24 जुलाई को शिमला, सोलन, सिरमौर, मंडी और चंबा में भारी वर्षा के लिए यलो अलर्ट जारी किया है। कई स्थानों पर हो रहे भूस्खलन को देखते हुए लोगों को सचेत रहने के निर्देश जारी किए गए हैं। वर्षा के बाद धूप खिलने से  भूस्खलन की घटनाएं बढ़ जाती हैं। रविवार को सबसे ज्यादा बारिशचायल में 14 मिलीमीटर, धर्मशाला में चार और शिमला में 1.6 मिलीमीटर दर्ज की गई। बाकी क्षेत्रों में मौसम साफ रहने से तापमान में बढ़ोतरी हुई है।

लास्टिंग से एनएच पर गिरी चट्टानें, छह घंटे रहा बंद 

भरमौर-चंबा राष्ट्रीय राजमार्ग लाहल के पास ब्लास्टिंग के कारण रविवार को छह घंटे बंद रहा। मार्ग बंद होने के कारण वाहन चालकों व लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। दोपहर करीब एक बजे ब्लास्टिंग के कारण मार्ग पर चट्टानें गिर गई। इस कारण मार्ग बाधित हो गया। शाम को करीब छह बजे मार्ग वाहनों

की आवाजाही के लिए बहाल हुआ। एनएच प्रबंधन ने लाहल के पास मार्ग के ऊपर से लटक रही चट्टानों को हटाने के ब्लास्ट किया था लेकिन ब्लास्ट के कारण पहाड़ का बहुत बड़ा हिस्सा सड़क पर आ गिरा। इससे

सड़क का डंगा भी टूट गया व सड़क पर भारी चट्टानें गिर गई।

लाहुल में निर्माणाधीन विद्युत टेशन के लिए बड़े ट्रांसफार्मर ले जाए जा रहे हैं। इनकी ऊंचाई सामान्य वाहनों से अधिक है। जिस कारण मार्ग के ऊपर से लटक रही चट्टानों को ब्लास्टिंग करके हटाया जा रहा है। रविवार दोपहर से मार्ग पर कोई भी वाहन नहीं चल पाया। जाम में फंसे लोगों ने प्रशासन से मांग की है ब्लास्टिंग के लिए समयसीमा निर्धारित की जाए। 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस