शिमला, जेएनएन। सूरज की पुलिस हिरासत में मौत मामले में जेल में बंद शिमला के पूर्व एसपी डीडब्ल्यू नेगी की जमानत याचिका पर प्रदेश हाईकोर्ट में सुनवाई 25 सितंबर के लिए टल गई। न्यायाधीश संदीप शर्मा के समक्ष याचिका पर सुनवाई हुई। इसी मामले में पूर्व आइजी जहूर जैदी की जमानत को लेकर मामला सर्वोच्च न्यायालय में लंबित होने के कारण नेगी की जमानत पर फैसला टल गया। नेगी ने छह महीने पहले जमानत के लिए हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी।

पूर्व एसपी शिमला की कंडा जेल में बंद हैं। कोटखाई में छात्रा की दुष्कर्म के बाद हत्या मामले में आरोपित सूरज की पुलिस हिरासत में मौत के मामले में सीबीआइ ने पूर्व आइजी जहूर जैदी समेत आठ पुलिस कर्मचारियों को गत वर्ष 29 अगस्त को गिरफ्तार किया था। सीबीआइ की ओर से गिरफ्तार सभी आरोपित तबसे न्यायिक हिरासत में हैं। जैदी के अलावा ठियोग के पूर्व डीएसपी मनोज जोशी, एएसआइ राजेंद्र सिंह, एएसआइ दीप चंद, एचएससी सूरत सिंह, मोहन लाल, रफीक अली व रंजीत सरेटा अभी तक सलाखों के पीछे हैं। सीबीआइ ने इसी मामले में 16 नवंबर को डीडब्ल्यू नेगी को गिरफ्तार किया था।