राज्य ब्यूरो, शिमला : वस्तु एवं सेवा कर यानी जीएसटी से हुए नुकसान की भरपाई के लिए केंद्र लगातार ग्रांट दे रहा है। अब वित्त मंत्रालय ने 354 करोड़ जारी किए हैं। जून से अब तक चार अलग-अलग किस्तों में हिमाचल को 1099 करोड़ आए हैं।

वित्त मंत्रालय के राजस्व विभाग के राज्य कर अनुभाग के अवर सचिव महेंद्र नाथ ने प्रदेश सरकार को पत्र लिखा है। इसमें नई धनराशि जारी करने की बात कही गई है, लेकिन यह अस्थायी ग्रांट होगी। अगर बाद में राज्य कस हिस्सा कम निकला तो रिकवरी होगी। यह रिकवरी भविष्य के दावों से की जाएगी। इस धनराशि को मुआवजा कहा गया है। यह गैर योजना मद की ग्रांट होगी। ताजा ग्रांट जून और जुलाई के लिए आई है। इससे पहले जून में 22 तारीख को 336 करोड़ आया था। यह जनवरी और फरवरी का मुआवजा था। इसके बाद जुलाई में 225 करोड़ आए। ये 11 जुलाई को अप्रैल, मई के लिए जारी किया था। इससे पहले मई में मार्च का 184 करोड़ आया था।

----------

कब, कितना पैसा आया

मार्च में 184 करोड़

जून में 336 करोड़

जुलाई में 225 करोड़

सितंबर में 354 करोड़

कुल 1099 करोड़

Posted By: Jagran