राज्य ब्यूरो, शिमला : हिमाचल का अस्तित्व व स्वरूप डॉ. वाइएस परमार की देन है। उनके बनाए एचपी लैंड टेंडेंसी एक्ट की वजह से ही प्रदेश के किसानों की जमीन सुरक्षित बची है। धारा-118 से छेड़छाड़ किसी कीमत पर सहन नहीं होगी। इसके विरोध में सड़क से सदन तक आंदोलन किया जाएगा। यह बात प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू ने शिमला स्थित कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में यशवंत सिंह परमार जयंती पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान कही। कार्यक्रम का आयोजन शिमला जिला शहरी कांग्रेस कमेटी ने किया, जिसकी अध्यक्षता शहरी जिलाध्यक्ष अरुण शर्मा ने की।

सूक्खू ने कहा कि परमार की दूरदर्शिता की वजह से ही हम लोग सुख-चैन से जी रहे हैं और प्रदेश उन्नति के पथ पर अग्रसर है। हिमाचल के भोले किसान की जमीन कौड़ियों के भाव बिकने से बची हैं। इससे पहले डॉ. परमार के चित्र पर श्रद्धासुमन अर्पित कर उनके योगदान को याद किया गया। इस अवसर पर विधायक लखविदर राणा, सतपाल रायजादा, पूर्व सीपीएस रोहित ठाकुर, पूर्व विधायक हरभजन सिंह भज्जी, पूर्व विधायक सोहन लाल, पूर्व विधायक सुभाष मंगलेट, पूर्व मेयर आदर्श सूद, सोहन लाल, शिमला शहरी जिला के पूर्व अध्यक्ष प्रदीप भुजा, पूर्व महिला कांग्रेस अध्यक्ष सुशीला नेगी, पूर्व कोषाध्यक्ष सुरेंदर चौहान, आइएन मेहता, हरिदर रावत, देविदर श्याम, धीरेंदर गुप्ता, तनु चौहान व शारदा ठाकुर मौजूद रहे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस