जागरण संवाददाता, शिमला : जिलेभर के कालेजों में पढ़ रहे विद्यार्थियों को अब टीबी, रक्तदान और एचआइवी के बारे में जागरूक किया जाएगा। छात्रों में टीबी की बीमारी और एचआइवी के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने विशेष मुहिम चलाई है। इसके तहत रक्तदान क्यों जरूरी है और रक्तदान के फायदे से संबंधित जानकारी भी विद्यार्थियों को दी जाएगी। आजादी के अमृत महोत्सव के तहत स्वास्थ्य विभाग में यह विशेष पहल की है।

विभाग की ओर से जल्द ही जिलेभर के कालेजों में जागरूकता अभियान शुरू किया जाएगा। इसमें छात्रों की अहम भूमिका रहेगी। नुक्कड़ नाटक, पेंटिग प्रतियोगिता सहित अन्य गतिविधियों के जरिए छात्रों को इन विषयों के बारे में अधिक से अधिक जानकारी दी जाएगी। वहीं छात्रों के भीतर छिपी प्रतिभा को निखारने के लिए प्रतियोगिताएं कारगर साबित होंगी। कालेजों में अभियान के सफल होने के बाद स्कूली स्तर पर भी इसे शुरू किया जा सकता है।

विभाग का मानना है कि युवा वर्ग समाज में बदलाव लाने के लिए सक्षम है और युवाओं में जागरूकता आने से भविष्य की पीढि़यों को बीमारियों के प्रति जागरूक होने में सहायता मिलेगी।

जिला निगरानी अधिकारी डा. राकेश भारद्वाज का कहना है कि जिलेभर के कालेजों में जागरूकता अभियान शुरू करने की तैयारी चल रही है। अभियान को सफल बनाने के लिए छात्रों की सहभागिता अधिक रहेगी। उन्होंने बताया कि छात्रों के जरिए समाज में लोगों को बीमारियों से सतर्क रहने की सीख भी मिलेगी। अस्पतालों में दूर होगी रक्त की कमी

जागरूकता अभियान के तहत छात्रों को रक्तदान के लिए भी प्रेरित किया जाएगा, इसके जरिए जिले के अस्पतालों में रक्त की कमी को दूर किया जाएगा। प्रदेश के बड़े स्वास्थ्य संस्थान आइजीएमसी, कमला नेहरू अस्पताल में रोजाना हजारों मरीजों की आवाजाही रहने से कई बार रक्त की कमी रहती है। ऐसे में मरीज के तीमारदार रक्त इंतजाम करने में परेशान रहते हैं। अभियान के तहत जगह-जगह रक्तदान शिविर भी लगाए जा सकते हैं, जहां अस्पतालों के लिए रक्त इकट्ठा किया जाएगा।

Edited By: Jagran