राज्य ब्यूरो, शिमला : स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार व उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह ठाकुर ने काग्रेस के भारत बंद को विफल करार दिया है। उन्होंने कहा कि हिमाचल में लोगों ने बंद को नकार दिया और इसका कोई असर देखने को नहीं मिला।

विपिन परमार व बिक्रम सिंह ने संयुक्त बयान में कहा कि प्रदेश के सभी हिस्सों में शहरों से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों तक बाजार खुले रहे। लोगों को आवाजाही में भी कोई परेशानी नहीं हुई। लोग आम दिनों की तरह अपने कार्यस्थल तक पहुंचे। काग्रेस देश में आधार खो चुकी है और आने वाले दिनों में जो कुछ बचा है, वह भी उससे छिन जाएगा। इसी भय से काग्रेस लोगों को बरगलाने के लिए भारत बंद कर रही है। नरेंद्र मोदी की अगुवाई में देश ने उन्नति की है। काग्रेस का बंद का आह्वान फ्लॉप शो बनकर रह गया। कांग्रेस ने पार्टी के गिरते आधार को बचाने के लिए किया भारत बंद

भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष गणेश दत ने कहा कि कांग्रेस ने अपनी पार्टी के गिरते आधार को बचाने के लिए भारत बंद किया जिसका कोई असर नहीं हुआ। प्रदेश में दुकानें खुली रहीं और आम जनजीवन सामान्य रहा।

उन्होंने कहा कि कुछ स्थानों में काग्रेस कार्यकर्ताओं व वामपंथियों ने रास्ते रोके जिससे अस्पताल जाने वाले और आम राहगीरों को दिक्कत हुई। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की अप्रत्याशित मूल्य वृद्धि के कारण डीजल व पेट्रोल के दाम बढ़े हैं। हिमाचल में एक प्रतिशत वैट की दर कम होने के कारण अन्य प्रदेशों के मुकाबले डीजल व पेट्रोल के दाम कम हैं। काग्रेस पार्टी व वामपंथी दल अपने राजनीतिक अस्तित्व को बचाने के लिए भारत बंद कर जनता में उनका हितैषी होने का ड्रामा कर रहे हैं।

Posted By: Jagran