शिमला/मनाली, जेएनएन। Himachal Weather Update प्रदेशभर में दो दिन लगातार बारिश व चोटियों पर हिमपात ने दिक्कत बढ़ा दी है। लाहुल-स्पीति जिले के बारालाचा दर्रे में करीब नौ इंच हिमपात से मनाली-लेह मार्ग अवरुद्ध हो गया है। इससे सरचू और दारचा के बीच 40 वाहन फंस गए हैं। सिंकुला दर्रे में छह इंच तथा रोहतांग दर्रे समेत कुल्लू जिले की चोटियों में हल्की बर्फबारी हुई है। मंडी जिला के थमसर, जुआरडू, पनिहारटू, पलाचक डैहनसर सहित अन्य इलाकों में बर्फबारी शुरू हो गई। ऊंची चरागाहों में भी बर्फबारी से कुछ भेड़पालक मवेशियों के साथ फंस गए हैं।

प्रदेश में रविवार व सोमवार को बारिश से करीब चार करोड़ रुपये के नुकसान का अनुमान है। इसमें घरों व सड़कों को क्षति पहुंची है। प्रदेश में बारिश, बर्फबारी व भूस्खलन से 48 सड़कें बंद हैं। इनमें सिरमौर में 41, सोलन में दो, मंडी में दो, हमीरपुर में दो और बिलासपुर में एक सड़क बंद है। सोमवार को सुबह से रुक- रुक कर वर्षा का क्रम जारी रहा और इसके कारण ठंड बढ़ गई है। शिमला में सोमवार को तापमान में एक डिग्री तक की गिरावट दर्ज की गई। मौसम विभाग ने मंगलवार को भी प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में बारिश की संभावना जताई है। प्रदेश में सबसे अधिक वर्षा सिरमौर में दर्ज की गई है।

कहां कितनी बारिश

स्थान       बारिश (मिलीमीटर)

राजगढ़      11.0

बकलोह        9.0

धर्मशाला      8.0

सुंदरनगर     8.0

भुंतर           8.0

सोलन         2.0

गौरतलब है कि रविवार को किन्नौर जिला के रिकांगपिओ, लाहुल स्पीति व कुल्लू जिला के रोहतांग दर्रे सहित चोटियों पर हल्का हिमपात हुआ। धर्मशाला में सबसे अधिक बारिश 29, सोलन में 22, सिरमौर के राजगढ़ और शिमला में 18-18 मिलीमीटर दर्ज की गई। मौसम विभाग ने सोमवार को प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में वर्षा की संभावना जताई है। मानसून को लौटने में अभी एक सप्ताह का समय लगेगा। अमूमन 15 सितंबर तक मानसून लौट जाता है। प्रदेश में सबसे अधिक तापमान ऊना जिला में 30.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

हिमाचल की अन्य खबरें पढऩे के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस