जागरण संवाददाता, शिमला : शहर के कालीबाड़ी मंदिर में खंड विकास कार्यालय मशोबरा की ओर से स्वास्थ्य अधिकारी तब्बसुम की निगरानी में वीरवार को 170 श्रद्धालुओं को कोरोना वैक्सीन लगाई गई। प्रदेश में 30 नवंबर तक कोरोना की दूसरी डोज को पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। कालीबाड़ी मंदिर में स्थानीय ही नहीं पर्यटकों को भी कोरोना वैक्सीन लगाई जा रही है।

कोरोना महामारी के खतरे को देखते हुए जिला प्रशासन ने सख्ती बरतने के निर्देश दिए हैं। इसे देखते हुए मंदिरों में भी सख्ती बरती जा रही है। शिमला के कालीबाड़ी मंदिर में सुबह से शाम तक माता के दर्शन के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रहती है। मंदिर में दर्शन करने के लिए आने वाले श्रद्धालुओं का नाम-पता रजिस्टर पर नोट किया जा रहा है। कोरोना के कारण मंदिर में दर्शन के बाद ज्यादा देर तक खड़े होने की अनुमति नहीं है। जिले के अन्य मंदिरों में भी लगाई जा रही कोरोना वैक्सीन

जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की ओर से कालीबाड़ी मंदिर में वैक्सीनेशन का विशेष प्रबंध किया गया है। इसके तहत स्थानीय व पर्यटक मां के दर्शन के साथ कोरोना का टीका भी लगा सकते हैं। स्वास्थ्य विभाग की गीता देवी ने बताया कि विभाग ने जिला शिमला के सभी मंदिरों में टीकाकरण अभियान चलाया है। टीकाकरण के लिए मंदिर में सुरक्षा कर्मी तैनात किए गए हैं। वे थर्मल स्कैनिग कर श्रद्धालु को दर्शन करने की अनुमति दे रहे हैं। कोरोना को मात देने के लिए एहतियात बरतना बहुत जरूरी है। इसके अलावा कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगवाना भी सुनिश्चित किया गया है।

Edited By: Jagran