जागरण संवाददाता, शिमला : राजधानी के लक्कड़ बाजार में विधायक का होटल पांच साल से बन रहा है। होटल का निर्माण कार्य अंतिम चरण में है, लेकिन अब यहां पर पब्लिक पाथ के नाम निर्माण किया जा रहा है। इसके बारे में नगर निगम और लोक निर्माण विभाग को कोई सूचना ही नहीं है। वहीं विधायक का तर्क है कि यहां पर पब्लिक पाथ है, लेकिन इसे देखकर आसानी से कोई अंदाजा लगा सकता है कि रास्ता नहीं बन रहा है। हैरानी तो इस बात कि है कि रास्ता बनाने की अनुमति नगर निगम और लोक निर्माण विभाग से ली ही नहीं है। यही नहीं निर्माण कार्य के लिए सड़क को भी तोड़ा जा रहा है।

नगर निगम और लोक निर्माण विभाग के आला अधिकारी रोजाना इस सड़क से गुजरते है, फिर भी इस निर्माण कार्य पर किसी नजर ही नहीं पड़ रही है। शहर में एक तरफ आम जनता अपने घरों के निर्माण कार्य के नगर निगम के चक्कर काटते काटते थक जाते हैं। फिर भी मंजूरी नहीं मिलती है। वहीं वीआइपी सरेआम नियमों का उल्लघंन कर रहे हैं।

सिंकिंग जोन में है होटल

2010 में पूर्व भाजपा सरकार ने होटल निर्माण कार्य की अनुमति दे दी थी। यह होटल सिंकिंग जोन के अंदर आता है। जब निर्माण कार्य शुरू हुआ तो कई बार जमीन धंसने के कारण निर्माण कार्य बंद हो गया था। वहीं नक्शे की अनुमति से अधिक मंजिल बनाने का मामला भी सामने आया था। सूत्रों के मुताबिक सिंकिंग जोन में कोई भी निर्माण किया ही नहीं जा सकता है, फिर भी पूर्व सरकार ने निर्माण कार्य को अनुमति दे दी।

-----

सिर्फ रैंप की होती है अनुमति

नियमों के अनुसार सड़क से छह मीटर की दूरी पर ही भवन का निर्माण किया जा सकता है। इसके साथ तीन मीटर का रैंप बनाने की अनुमति नगर निगम देता है। नियमों के अनुसार होटल के लिए तीन मीटर का रैंप पहले ही बनाया जा चुका है। ऐसे में अब बन रहे रैंप का कोई औचित्य ही नहीं है।

--------

हफ्ते से लटका रहा प्रशासन

दैनिक जागरण एक हफ्ते से होटल निर्माण कार्य की अनुमति से संबधित फाइल के बारे में नगर निगम से जानकारी जुटा रहा था, लेकिन निगम के अधिकारी बार-बार कोई न कोई बहाना देकर फाइल दबा ही रहे थे। निगम प्रशासन का तर्क है कि फाइल रिकार्ड रूम में होती है। इसे ढूंढ़ना काफी मुश्किल होता है। हजारों फाइलों के ढेर में अकेली फाइल ढूंढ़ना मुश्किल कार्य है।

कौन क्या कहता है

मुझे इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। रिकार्ड देखने के बाद ही बता पाऊंगा, लेकिन मुझे नहीं लगता नियमों को उल्लघंन हो रहा होगा। मगर मौके का तुरंत निरीक्षण किया जाएगा।

-अयुब चौधरी, एक्सईएन लोक निर्माण विभाग।

-------

मेरे ध्यान में मामला नहीं है। सहायक वास्तुकार को मामले के बारे में पता करने के निर्देश दिए गए। अगर नियमों का उल्लघंन होगा तो तुरंत कारवाई की जाएगी।

-प्रंशात सरकैक, नगर निगम शिमला।

------

कोई भी अवैध निर्माण नहीं हो रहा है। यह आम जनता के लिए पब्लिक पॉथ बनाया जा रहा है। जब होटल निर्माण की अनुमति ली गई थी। उसी के साथ इसके निर्माण की अनुमति भी मिली थी। छत के नीचे कोई भी स्टोर नहीं बनेगा। अभी निर्माण कार्य चल रहा है। जल्द ही पूरा हो जाएगा। उसके बाद आपको आसानी से पता चल सकेगा कि ये पब्लिक पाथ है। यहां कोई पार्किंग नहीं बना रहा हूं।

-बलबीर वर्मा, विधायक।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021