शिमला, जेएनएन। शिमला के झंझीड़ी में सोमवार सुबह एचआरटीसी की बस दुर्घटनाग्रस्‍त हो गई। हादसे में चालक समेत दो बच्‍चों की मौत हो गई है। इसके अलावा पांच छात्राएं व बस परिचालक की हालत नाजुक है। गुस्‍साए लोगों ने सड़क किनारे खड़े वाहनों को तोड़ दिया है। मुख्‍यमंत्री जयराम ठाकुर ने आइजीएमसी शिमला पहुंचकर घायलों का कुशलक्षेम जाना। सीएम ने हादसों पर लगाम लगाने के लिए सचिवालय में आला अधिकारियों की बैठक बुलाई है। जयराम ने कहा जो भी हादसे के पीछे दोषी पाया गया, उसके खिलाफ सख्‍त कार्रवाई होगी। बच्‍चों की मौत हुई है, लोगों का गुस्‍सा स्‍वाभाविक है।

आइजीएमसी शिमला पहुंचे शिक्षा मंत्री को लोगों के गुस्‍से का शिकार होना पड़ा। बच्‍चों के परिजनों व अन्‍य लोगों ने लगातार हो रहे हादसों पर मंत्री को घेर लिया और जवाब मांगा। इस दौरान स्थिति काफी तनावपूर्ण हो गई। लोगों ने धरना शुरू कर दिया। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज अस्‍पताल में ही मौजूद हैं।

जानकारी के अनुसार सुबह एचआरटीसी की बस चेल्‍सी स्कूल के बच्चों को लेकर जा रही थी, इस दौरान अचानक झंझीड़ी में अनियंत्रित होकर खाई में गिर गई। बस पलटते कई फीट नीचे पहुंच गई। स्थानीय लोगों ने जैसे ही बस को नीचे गिरते देखा तो तुरंत मौके पर पहुंचकर घायल बच्चों को निकालना शुरू कर दिया तथा अपने वाहनों में तुरंत आइजीएमसी शिमला ले आए। लेकिन अस्पताल पहुंचते ही दो बच्चों और बस चालक की मौत हो गई। अन्य घायल बच्चे उपचाराधीन हैं।

अभी हादसे के कारणों का पता नहीं चल पाया है। गुस्‍साए लोगों ने सड़क किनारे खड़े वाहनों काे तोड़ दिया है। माना जा रहा है कि सड़क किनारे अवैध रूप से पार्क किए गए वाहनों के कारण ही यह हादसा हुआ है। लोगों ने प्रशासन के खिलाफ भी जमकर नारेबाजी की। घटनास्थल प्रशासन का कोई भी अधिकारी नहीं पहुंचा था। हादसे के बाद केंद्रीय वित्‍त एवं कारपोरेट राज्‍यमंत्री अनुराग ठाकुर ने गहरा शोक जताया है। परिवहन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने भी हादसे पर दुख जताते हुए उचित जांच करने की बात कही है।

मंगलवार को बंद रहेंगे शिमला के सीबीएसई स्‍कूल

बस हादसे में दो छात्राओं की मौत के बाद सीबीएसई संबद्वता प्राप्‍त शिमला के सभी स्‍कूल मंगलवार को बंद रहेंगे। छात्राओं की आत्‍मा की शांति के लिए उन्‍हें यह एक प्रकार की श्रद्वांजलि होगी। विधुप्रिया चक्रवर्ती ने इसकी जानकारी दी।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran News Network