सहयोगी, गोहर : जंजैहली थाना के अंतर्गत एक नाबालिग लड़की को स्कूल से भगाने में मदद करने वाली मिड-डे-मील वर्कर को सब जज गोहर की अदालत में पेश किया गया। सब जज गोहर अशोक वत्सल की अदालत ने वर्कर को तीन दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। थाना जंजैहली के अंतर्गत छतरी तहसील के धारटी गांव की लड़की जोकि राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला मेहरीधार में दसवीं कक्षा में पढ़ती है, की मिड-डे-मील वर्कर द्वारा किसी युवक के साथ भगाने में मदद की थी। लड़की के पिता तुला राम ने इसकी शिकायत जंजैहली थाना में दी है। लड़की के पिता ने शिकायत में बताया कि 30 अगस्त को उनकी लड़की सुबह स्कूल गई थी लेकिन घर नहीं लौटी। पूछताछ की तो पता चला लड़की को आखिरी बार मिड-डे-मील वर्कर के साथ देखा गया था। किसी गाड़ी में बैठते हुए भी देखा गया था। जंजैहली पुलिस के एएसआइ मोहन जोशी की टीम ने उक्त मिड-डे-मील वर्कर को सात सितंबर को गिरफ्तार कर लिया था। शनिवार को अदालत में पेश किया जहां से उसे तीन दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है। पता चला है कि मैहरीधार स्कूल में इससे पहले भी एक लड़की लापता हुई है जो अब तक घर नहीं लौटी है। डीएसपी करसोग अरुण कुमार मोदी ने बताया उक्त महिला के फोन कॉल की डिटेल को खंगाला जा रहा है।

Posted By: Jagran