जागरण संवाददाता, मंडी : जिला कांग्रेस कमेटी मंडी के पूर्व अध्यक्ष दीपक शर्मा ने भाजपा विधायक अनिल शर्मा पर क्षेत्रवाद की राजनीति को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि अनिल शर्मा जनसंपर्क अभियान के दौरान क्षेत्रवाद के आधार पर लोगों को गुमराह करने का प्रयास कर रहे हैं। अनिल शर्मा ने मंडी शहर के लोगों को ताकत मिलने पर तुंगल के लोगों को क्षेत्रवाद पर भड़काया है। दीपक शर्मा ने अनिल शर्मा से पूछा की क्या मंडी शहर, पंडोह, मझवाड़ या साईगलू के नीचे के लोग क्या सदर विधानसभा क्षेत्र का हिस्सा नहीं हैं? वास्तविकता यह है कि तुंगल क्षेत्र का विकास करने में भी विधायक नाकाम साबित हुए हैं।

सदर की जनता जानना चाहती है कि जब विधानसभा सत्र चला हुआ था तो किन कारण की वजह से वो इसमें शामिल नहीं हुए। क्षेत्र के समस्याओं व विकास कार्यों को प्राथमिकता न देकर निजी कार्य को प्राथमिकता दी। इस बात का जवाब अनिल शर्मा को सदर की जनता को देना चाहिए। थाना पलौण प्रोजेक्ट का कार्य क्यों शुरू नहीं हो पाया? जबकि वे दो साल ऊर्जा मंत्री रहे। डेढ़ साल तक कोटली में तहसील कार्यालय क्यों बिना अधिकारी के बंद रहा? क्यों कोटली सिविल अस्पताल में विशेषज्ञ डाक्टर की नियुक्ति नहीं हो पाई? कोटली कालेज में सभी विषयों के प्रवक्ता नियुक्त नहीं हो पाए।

कोरोना महामारी के दौरान जब पूरा क्षेत्र इससे ग्रसित था तो वह घर बैठे रहे। अब अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए , भावनात्मक रूप से क्षेत्रवाद का मुद्दा भड़का कर सदर की जनता को बांटने का प्रयास कर रहे जो निदनीय है।

Edited By: Jagran