सहयोगी, नेरचौक : नगर परिषद नेरचौक के स्यांह में दिल्ली से लौटा परिवार क्वारंटाइन सेंटर जाने की बजाय सीधे घर चला गया। मामले की जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने इस परिवार को संस्थागत क्वारंटाइन सेंटर रिवालसर भेजा है। व्यक्ति के खिलाफ मामला भी दर्ज किया है।

श्याम लाल निवासी स्यांह वार्ड अपनी पत्नी मंजू देवी तथा पुत्र तेजस्य व कार्तिक सहित रेड जोन दिल्ली से बीस मई को लौटे थे। सलापड़ नाके के दौरान औपचारिकताएं पूरी करने के बाद परिवार सीधा अपने घर चला गया और घर में रहने लगा। शिकायत मिलने पर पुलिस प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई अमल में लाई है। थाना प्रभारी राजेश ठाकुर ने इसकी पुष्टि की है।

----------- डीसी से की शिकायत तो मिला खाना

सहयोगी, धर्मपुर : उपमंडल के प्राइमरी स्कूल धर्मपुर में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर में रखे गए व्यक्ति ने प्रशासन पर उपेक्षा का आरोप लगाया है। कलस्वाई निवासी बलवंत सिंह हैदराबाद से आया था। सुविधा न मिलने पर बलवंत सिंह ने अपना वीडियो बनाकर उपायुक्त से शिकायत की थी। उसके बाद उसे खाना नसीब हुआ है।

बलवंत का आरोप है कि उसे अकेले जंगल से घिरे खंडहरनुमा स्कूल में रखा गया है। यहां के दरवाजे में कुंडी भी नहीं लगती है। न तो उसे खाना दिया जा रहा है और न ही पानी की व्यवस्था है। किसी कर्मचारी या अधिकारी को कहें तो वह सही तरीके से व्यवहार नहीं करते हैं। बलवंत सिंह द्वारा वीडियो बनाए जाने के बाद हरकत में आए प्रशासन ने उन्हें खाना मुहैया करवा दिया है। उन्होंने कहा कि यहां शौचालय भी झाड़ियों के बीच है और पीने के पानी के लिए भी कोई व्यवस्था नहीं है। उन्होंने आरोप लगाया कि स्थानीय अधिकारियों को कहने के बाद भी उनकी कोई सुनवाई नहीं हुई है। इसी कारण उन्होंने इसकी शिकायत उपायुक्त से की थी। वहीं, नायब तहसीलदार ब्रह्मादत्त शर्मा ने कहा कि उसे प्राइमरी स्कूल धर्मपुर में रखा गया है। खाने की भी उचित व्यवस्था की गई है।

Posted By: Jagran

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस