सहयोगी, सरकाघाट : सरकाघाट कॉलेज में एसएफआइ कार्यकर्ताओं ने बाहरी तत्वों के साथ मिलकर एबीवीपी कार्यकर्ताओं पर बुधवार को जानलेवा हमला किया। हादसे में कई विद्यार्थी घायल हुए हैं। इनमें एक छात्र को गंभीर चोटें आई हैं। पुलिस ने चार युवाओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। एबीवीपी के इकाई अध्यक्ष ¨प्रस शर्मा ने बताया कि मंगलवार को एबीवीपी के कुछ कार्यकर्ता क्लास खत्म होने के बाद घर जाने के लिए कॉलेज गेट पर बस का इंतजार कर रहे थे। इतने में एसएफआइ के कार्यकर्ता अपने लगभग 20 साथियों के साथ तेजधार हथियार लेकर आए और एबीवीपी कार्यकर्ताओं पर हमला कर दिया। उनके तेजधार हथियार से एक कार्यकर्ता के सिर में गंभीर चोटें आई हैं। इसके अलावा वहां खड़ी कुछ छात्राएं भी घायल हुई हैं। खून से लथपथ घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया। यहां एक कार्यकर्ता के सिर पर तीन टांके लगे हैं। वहीं अन्य कार्यकर्ताओं का उपचार कर उन्हें घर भेज दिया है। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। सूचना मिलते ही पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

बुधवार को एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने हमले के विरोध में कॉलेज में धरना प्रदर्शन किया और एसएफआइ कार्यकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। एबीवीपी इकाई अध्यक्ष ¨प्रस शर्मा ने बताया कि वामपंथी लंबे समय से विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं को डराते और धमकाते रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगर विद्यार्थी परिषद के किसी भी कार्यकर्ता को और क्षति हुई तो उसके लिए प्रशासन जिम्मेदार होगा। हमलावरों के खिलाफ शीघ्र कार्रवाई नहीं की गई तो एबीवीपी उग्र आंदोलन शुरू कर देगी।

इस अवसर पर प्रियंका नेगी, रिया ठाकुर, विजय, निशांत, प्रवीन, अजय आदि मौजूद रहे।

सरकाघाट थाना के निरीक्षक मनमोहन मामले की जांच कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमले में चार युवा शोभित, संजीव, शम्मी व ऋषभ शर्मा नामजद हुए हैं। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Posted By: Jagran