कुल्लू, जेएनएन। कुल्लू में वीरवार सुबह 11 बजे भूकंप के झटकों से अफरा तफरी मच गई। आपदा प्रबंधन की टीम ने तुरंत कार्रवाई करते हुए बचाव कार्य आरंभ कर दिए। इस दौरान होमगार्ड की टीम ने डीसी ऑफिस के साथ घायलों को तुरंत बाहर निकालकर एंबुलेंस की मदद से अस्पताल पहुंचाया। यह दृश्य था, डीसी कार्यालय में की गई मॉकड्रिल का। सुबह करीब 11 बजकर 20 मिनट पर सायरन बजते ही उपायुक्त कार्यालय परिसर और मिनी सचिवालय के सभी अधिकारी-कर्मचारी तुरंत अपने कार्यालयों से बाहर आ गए।

होमगा‌र्ड्स और अग्निशमन विभाग के कर्मचारियों के विशेष बचाव दस्ते ने भी तुरंत मौके पर पहुंच कर बचाव कार्य आरंभ कर दिया। इस दस्ते ने एडीएम कार्यालय और इसके साथ लगते अन्य भवनों में फंसे लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला तथा एंबुलेंस के माध्यम से अस्पताल पहुंचाया। अग्निशमन विभाग के कर्मचारियों ने भूकंप के बाद भवन के अंदर लगी आग को बुझाने का भी अभ्यास किया। मॉकड्रिल के दौरान जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एडीएम अक्षय सूद और नोडल ऑफिसर जिला राजस्व अधिकारी राजेश भंडारी ने स्वयं मौके पर बचाव कार्यो का जायजा लिया तथा बचाव दस्ते को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

एडीएम अक्षय सूद ने बताया कि कुल्लू जिला भूकंप की दृष्टि से काफी संवेदनशील है और इस जिले के अधिकांश क्षेत्र भूकंप संवेदनशीलता के जोन-फोर और फाइव में आते हैं। इसलिए भूकंप जैसी प्राकृतिक आपदा से निपटने के लिए अच्छी तैयारी होनी चाहिए तथा इसके प्रति आम जनता को भी जागरूक रहना चाहिए। इसके मद्देनजर ही वीरवार को जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने मॉकड्रिल का आयोजन किया। मॉकड्रिल में डीएसपी आशीष शर्मा, होमगार्ड के कंपनी कमांडर कमल भंडारी, अन्य विभागों तथा जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अधिकारियों ने भी भाग लिया। इस मौके पर जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने कुल्लू में होमगार्ड, अग्निशमन, स्वास्थ्य विभाग और अन्य विभागों के सहयोग से एक मॉकड्रिल करवाई।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप