जागरण संवाददाता, कुल्लू : भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अंतिम इच्छा पूरी करने के लिए उनकी दत्तक पुत्री नमिता उनकी अस्थियां लेकर बुधवार को कुल्लू-मनाली पहुंचेंगी। अटल बिहारी मनाली के प्रीणी गांव को अपना दूसरा घर मानते थे, जहां उनकी बेटी भी कई बार पिता संग और स्वयं भी अपने परिवार के साथ भी आती रही हैं। अब वह 12 सितंबर को कुल्लू-मनाली आ रही हैं और 13 सितंबर को ब्यास नदी में अस्थियां विसर्जित करेंगी। उनकी अस्थियों को कहां पर ब्यास नदी में प्रवाहित किया जाएगा, अभी सुरक्षा कारणों से इसकी जानकारी गुप्त रखी गई है। वैसे माना जा रहा है कि अटल की पसंदीदा जगह प्रीणी गांव के समीप बहती ब्यास नदी में ही प्रवाहित की जाएंगी। नमिता को एसपीजी सुरक्षा होने के कारण कार्यक्रम स्थल को सार्वजनिक नहीं किया जा रहा है।

इसके लिए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर भी 13 सितंबर को सुबह ही हेलीकॉप्टर के जरिये मनाली पहुंच रहे हैं, जो कार्यक्रम समाप्त होते ही उसी समय लौट जाएंगे।

Posted By: Jagran