मनाली, जेएनएन। धूप खिलते ही बर्फ से लदे लाहुल व मनाली के पहाड़ निखर उठे है। लाहुल घाटी में बर्फ़बारी से अवरुद्ध मार्ग फिर से वाहनों के लिए बहाल हो गए है। मौसम साफ होते ही लाहुल व मनाली के लोगों ने ठंड से राहत की सांस ली है। बीआरओ ने लाहुल घाटी की सड़कों को बहाल करने के बाद रोहतांग दर्रे की बहाली को गति दे दी है। दोनों ओर से दर्रे की लगभग 26 किमी बहाली शेष रह गई है। बीआरओ ने वीरवार को भी मौसम का फायदा उठाते हुए सुबह से रोहतांग बहाली शुरु कर दी है। 

सड़कें बहाल होने से मिली राहत

लाहुल घाटी की सड़को को बीआरओ ने प्राथमिकता में बहाल किया है ताकि कोरोना वायरस को लेकर आने वाली दिक्कत से तुरंत निपटा जा सके। हालांकि कर्फ्यू के चलते लाहुल घाटी में लोग घरों से बाहर नही निकल रहे है लेकिन सड़कें बहाल होने से प्रशासन व पुलिस कर्मियों को आने जाने में राहत मिली है। लाहुल निवासी दोरजे व सोनम ने बताया की धूप खिलने से उन्हें ठंड से राहत मिली है। उन्होंने बताया कि घाटी के लोग सरकार के आदेशों का पालन करते हुए घरों से बाहर नही निकल रहे है। बीआरओ कमांडर उमा शंकर ने बताया कि मौसम साफ होते ही बीआरओ ने रोहतांग दर्रे के दोनों ओर से सड़क बहाली को गति दे दी है। उन्होंने बताया कि अब 26 किमी के लगभग रोहतांग बहाली शेष रह गई है।

मौसम विभाग की चेतावनी 

26 मार्च को किन्नौर व लाहुल स्पीति को छोड़कर मौसम विभाग ने हिमाचल के अन्‍य 10 जिलों में भारी वर्षा की संभावना जतायी है साथ ही येलो अलर्ट भी जारी कर दिया है। इस दौरान लोगों से सतर्क रहने के लिए कहा गया है। मौसम विभाग के निदेशक डॉ. मनमोहन का कहना है कि 27 मार्च को प्रदेश के ज्‍यादातर इलाकों में बादल छाये रहने की संभावना है। 

Coronavirus: हिमाचल से अच्‍छी खबर, कोरोना का कोई नया मामला नहीं आया सामने; 26 सैंपल नेगेटिव

 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस