योगराज नेगी, गुशैणी

बंजार की पंचायत नोहांडा के करीब 12 गांवों के लोग आज भी पीठ पर सामान ढोने के लिए मजबूर हैं। सड़क सुविधा न होने के कारण लोगो को आठ से दस किलोमीटर दूर से पैदल सामान लाना पड़ता है।

नोहांडा पंचायत के नांही, घाट, लाकचा, शालिगा, टालिगा, कांउचा, डिगचा, दारन, शुगंचा, झलेरी, झनियार, वरेलिगा गांव में सड़क सुविधा न होने के कारण विकास को ग्रहण लग गया है।

ग्रामीण तुले राम, मोती राम, भेद सिंह, हुक्कम राम, राजू राम, कांशी राम, पदम सिंह, बुधराम, दिलाराम, वीर सिंह, पूनी देवी, चंद्रा देवी, रितू, गोकला देवी, तेज राम, घनश्याम ठाकुर, दलीप सिंह ठाकुर, बिंटू, गधीर सिंह का कहना है कि कई साल से लोक निर्माण विभाग व सरकार से गांवों को सड़क सुविधा से जोड़ने के लिए गुहार लगा रहे हैं लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। ग्रामीणों ने निजी भूमि की गिफ्ट डीड भी लोक निर्माण विभाग के नाम कर दी है। इसके बावजूद सड़क का कार्य शुरू नहीं हो पाया है।

------------

नगलाड़ी-नालाघाट सड़क की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) स्वीकृति के लिए भेजी है। अनुमति मिलते ही टेंडर लगाकर कार्य शुरू कर दिया जाएगा। तिदर से डिगचा, काऊंचा में कुछ भूमि मालिकों ने अडंगा डाला था। जिनसे समझौता कर लिया गया है।

-रोशन लाल ठाकुर, सहायक अभियंता, लोक निर्माण विभाग बंजार।

--------------

प्रदेश सरकार के ध्यान में मामला लाया गया है। जल्द गांवो को सड़क सुविधा सुविधा से जोड़ा जाएगा। इसके लिए मैं लगातार प्रयास कर रहा हूं।

-सुरेंद्र शौरी, विधायक, विधानसभा क्षेत्र बंजार।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस