मनाली, जागरण संवाददाता। Himachal Tourist Trapped, हिमाचल प्रदेश के मुख्‍यमंत्री जयराम ठाकुर कांगड़ा के फतेहपुर में जनसभा के बाद लाहुल का हवाई निरीक्षण करेंगे। जयराम ठाकुर नुकसान का जायजा लेंगे। बीते दिनों बादल फटने से लाहुल घाटी में भारी नुकसान हुआ है। लाहुल घाटी के उदयपुर में पर्यटक हेलिकॉप्टर के इंतजार में तैयार बैठे हैं। अन्‍य राज्यों के करीब 32 पर्यटक उदयपुर में हेलिकॉप्टर का इंतजार कर रहे हैं। हालांकि बारिश बंद हो गई है। लेकिन रोहतांग दर्रे में छाए बादल हेलिकॉप्टर की राह में बाधा बने हैं। शुक्रवार को भी पर्यटक हेलिकॉप्टर की उम्मीद लगाए बैठे थे, लेकिन खराब मौसम के कारण उड़ान नहीं हो पाई। पर्यटक दिन भर आसमान की ओर देखते रहे।

हालांकि प्रदेश के विभिन्न जिलों के लोग भी उदयपुर क्षेत्र में फंसे हैं। लेकिन उनमें से अधिकतर सड़क से कहीं गाड़ी में तो कहीं पैदल चलकर मनाली निकल आए हैं। सरकार ने इन लोगों को रेस्क्यू करने की पूरी तैयारी कर ली है और पर्यटकों को भी आज राहत मिलने की उम्मीद है। मौसम खुलते ही हेलिकॉप्टर रोहतांग होते हुए उदयपुर हेलीपैड उतरेगा और घाटी में फंसे पर्यटकों को उदयपुर से सिस्‍सू हेलीपैड लाएगा। सिस्‍सू से पर्यटकों को वाहन द्वारा अटल टनल होते हुए मनाली लाया जाएगा।

लाहुल स्पीति प्रशासन ने फंसे हुए सभी लोगों की लिस्ट बना ली है। इनमें 32 पर्यटक विभिन्न राज्यों के हैं जबकि 209 लोग प्रदेश के हैं। सभी पर्यटक पटन घाटी में फंसे हुए हैं, जबकि लेह व काजा में फंसे पर्यटकों को निकाल लिया गया है।

डीसी लाहुल स्पीति नीरज कुमार ने बताया आज पर्यटकों को लोगों को रेस्क्यू करने की पूरी तैयारी कर ली है। मौसम की वजह से उड़ान नहीं हो पा रही है। मौसम साफ होते ही सभी को हेलिकॉप्टर के माध्यम से रेस्क्यू कर लिया जाएगा।

बरशैणी मार्ग पर भूस्खलन

कुल्लू। जिला कुल्लू और लाहुल में बरसात के चलते अभी भी यहां के लोगों की दुश्वारियां कम नहीं हुई हैं। जिला कुल्लू और लाहुल में शनिवार को 47 सड़कें अवरुद्ध हई थीं। इसमें कई जगह पर भारी भूस्खलन हुआ है। शाम तक लोक निर्माण विभाग द्वारा 20 सड़क मार्ग को बहाल कर दिया है जबकि 27 मार्ग पर बहाली का कार्य चला हुआ है। सुबह लगवैली के तराशनी, मणिकर्ण से बरशौणी सड़क मार्ग, खणिपांद सड़क मार्ग पर भी भूस्खलन हुआ है। खणिपांद सड़क में एचआरटीसी की बस कुछ दूरी पर खड़ी थी अन्यथा कोई बड़ा हादसा हो सकता था।

Edited By: Rajesh Kumar Sharma