जसूर, जेएनएन। उपमंडल नूरपुर की पंचायत जाच्छ के लोग पेयजल किल्लत से जूझ रहे हैं। आलम यह है कि लोगों तक पेयजल आपूर्ति करने वाली योजना तो बिल्कुल दुरुस्त है लेकिन पानी को समय पर छोड़ने वाले कर्मचारियों की कमी सबसे बड़ी परेशानी बनी हुई है। एक महीने से लोगों को समस्या से जूझना पड़ा है। हद तो उस समय हो गई जब सोमवार को पानी नहीं आया और यही स्थिति मंगलवार को भी सामने आई। जब लोगों ने पेयजल योजना पर जाकर स्थिति को देखा तो मोटरें बंद पड़ी थी और पंप हाउस के सारे दरवाजे खुले थे, लेकिन मौके पर आइपीएच विभाग द्वारा एक कंपनी के जरिये रखे ऑपरेटर मौजूद नहीं था।

इस बारे लोगों ने विभाग के उच्चाधिकारियों को सूचित किया तो विभागीय अधिकारी पहुंचे लेकिन विभाग ने टेंडर प्रक्रिया के तहत पानी छोड़ने के लिए जो ऑपरेटर रखे थे वे नदारद थे। इस पर लोगों ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए विभाग को चेताया कि जो लोग बतौर ऑपरेटर रखे गए हैं उन्हें उनकी कार्यशैली को लेकर संज्ञान लिया जाए ताकि उन लोगों की निठल्ली कार्यशैली का खामियाजा लोगों को ना भुगतना पड़े। उधर विभाग के अधिशाषी अभियंता केके कपूर ने कहा कि पेयजल आपूर्ति को बराबर बहाल रखा जाएगा और जो लोग उक्त योजना के लिए अधिकृत किए गए हैं उनसे जवाब तलबी की जाएगी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस