कुलदीप राणा, पालमपुर

शहीद सौरभ कालिया की स्मृति में पालमपुर की न्यूगल खड्ड के साथ बंदला में बनाए गए सौरभ वन विहार की खूबसूरती निहारने के लिए पर्यटक पहुंचने शुरू हो गए हैं। इस स्थल पर सैकड़ों लोग पिकनिक मनाने के लिए पहुंचते हैं। सौरभ वन विहार बंद होने से पर्यटक यहां नहीं आ रहे थे। अब यह उनके लिए खुल गया है। इससे सौरभ वन विहार में फिर चहलकदमी बढ़ गई है। कृत्रिम झील में सफाई कर फिर पानी डाल दिया है। यहां पर पर्यटक नौकायान का भी लुत्फ उठा रहे हैं।

जुलाई 2018 व 2019 में न्यूगल खड्ड में आई बाढ़ से सौरभ वन विहार पूरी तरह तहस नहस हो गया था। पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार के प्रयास से सौरभ वन विहार को फिर ठीक करवाया गया।

शांता का है ड्रीम प्रोजेक्ट

सौरभ वन विहार शांता कुमार का ड्रीम प्रोजेक्ट है। यहां पर आधुनिक टेंट व ट्री हट्स स्थापित करने के लिए टेंडर प्रक्रिया शुरू हो गई है। जल शक्ति विभाग के माध्यम से सौरभ वन विहार को बाढ़ से बचाने के लिए 6.50 करोड़ रुपये से सुरक्षा दीवार लगाई जा रही है। खड्ड के बहाव को सुगम बनाने के लिए जेसीबी से मलवा हटाया जा रहा है।

:::::::::::::::::::::::::::::::

पालमपुर के चाय बागान के बाद सौरभ वन विहार पर्यटकों के लिए आकर्षण का मुख्य केंद्र है। लंबे समय से यह बंद होने के कारण पर्यटक यहां नहीं आ रहे थे।

-अरुण राणा न्यूगल खड्ड में बाढ़ आने से सौरभ वन विहार पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया था। थोड़ा समय तो लगा है लेकिन अब इसे पहले से भी खूबसूरत बना दिया गया है।

-अक्षय राणा दो सप्ताह से पालमपुर में पर्यटकों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है। अधिकतर होटल 70 से 80 फीसद बुक हैं। पर्यटकों की सुविधा के लिए सौरभ वन विहार खोलना अच्छा निर्णय है।

-माधव सूद सौरभ वन विहार पर्यटकों के लिए दोबारा खोलना जरूरी था। इससे क्षेत्र के लोगों को रोजगार के अवसर भी मिलते हैं। पर्यटकों से अपील है कि वे कोविड-19 नियमों का पालन करें।

-कमला कपूर, प्रधान, चंदपुर पंचायत

Edited By: Jagran