ज्वालामुखी, प्रवीण कुमार शर्मा। संगठनात्मक मामलों को लेकर हमेशा विवादों में रही ज्वालामुखी भाजपा में एक बार फिर घमासान छिड़ गया है। दस मई को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के ज्वालामुखी प्रवास के दौरान भड़ोली कुटियारा में संगठन के कुछ कार्यकर्ताओं द्वारा अपनी मांगों को लेकर किए गए हंगामे को लेकर जिला देहरा भाजपा ने सख्त रुख अपनाया है। मामले को लेकर संगठनात्मक जिला देहरा के अध्यक्ष संजीव शर्मा ने जिला उपाद्यक्ष सरिता धीमान,जिला सचिव देवराज राणा, तथा ग्राम केंद्र प्रमुख टिहरी केहर सिंह को मीडिया में अनावश्यक व्यानबाजी तथा पार्टी विरोधी नारे लगाने के आरोप में कारणवताऊ नोटिस जारी किया है.कहा है कि सभी सदस्य तीन दिन के भीतर नोटिस का लिखित जबाब दें.अन्यथा उन पर कड़ी अनुशासनात्मक कार्यबाही की जाएगी.निर्देश दिए गए हैं कि पार्टी विरोधी नारे लगाने के लिए उनके साथ अन्य जो भी कार्यकर्ता शामिल थे उनकी सूची भी जिला भाजपा को दी जाए. ताकि पार्टी के खिलाफ आवाज बुलंद करने वालों को सबक सिखाया जा सके.जिला भाजपा के सख्त रुख के बाद ज्वालामुखी भाजपा में एक बार पुनः घमासान छिड़ सकता है।

क्या है मामला

मुख्यमन्त्री जयराम ठाकुर के ज्वालामुखी प्रवास के बाद अपने ग्रह क्षेत्र टिहरी के लिए कोई भी आधिकारिक घोषणा ना होने से क्षुब्ध जिला संगठन व स्थानीय संगठन के कई कार्यकर्ताओं ने मुख्यमन्त्री के कार्यक्रम के एकदम बाद मीडिया के सामने अपना गुस्सा जाहिर किया था.कार्यकर्ताओं की तरफ से सामूहिक इस्तीफों की बात के साथ साथ भाजपा मुर्दावाद के नारे भी बुलंद हुए थे. इन कार्यकर्ताओं का गुस्सा था कि टिहरी के साथ अन्यायपूर्ण व्यबहार हो रहस्य है.खुंडिया में 20 पंचायतों के लिए खोले गए विकासखण्ड कार्यालय का भी पहला हक उनका था.लेकिन इसे छीन लिया गया.जबकि प्रदेश में भाजपा सरकार बनते ही मुख्यमन्त्री से मिलने गए प्रतिनिधिमण्डल को सीएम ने आश्वश्त किया था. बिकासखण्ड कार्यालय खुंडिया में खुलने के बाद लोगों ने विधायक से मिलकर टिहरी में बहुतकनीकी संस्थान खोलने की मांग रखी.जिस पर कहा गया कि सीएम इसकी घोषणा करेंगे. लेकिन उन्हें इस पर भी धोखा ही हाथ लगा.उनके क्षेत्र में आज दिन तक कोई भी कार्यालय नहीं खोला गया. जबकि खुंडिया में तहसील के साथ कई अन्य कार्यालय पहले ही खुले हुए हैं.अपनी मांगों पर मुख्यमन्त्री की घोषणा ना होने के बाद पार्टी के कार्यकर्ताओं ने हंगामा किया था.

इन पर भी होगी कारर्वाइ..............

मुख्यमंत्री के दौरे से पहले मीडिया में मुख्यमन्त्री के ज्वालामुखी दौरे पर ना आने की स्थिति में भूख हड़ताल की धमकियां देने वाले कुछ बुजुर्ग कार्यकर्ता भी जिला भाजपा के निशाने पर हैं.गौरतलब है कि कांगड़ा प्रवास पर आए मुख्यमन्त्री का ज्वालामुखी दौरा तय ना होने की बजह से कुछ कार्यकर्ताओं ने भूख हड़ताल की धमकी दी थी.हालांकि चार दिन बाद ही मुख्यमन्त्री कार्यालय ने सीएम का ज्वालामुखी दौरा तय कर दिया था.लेकिन बुजुर्ग कार्यकर्ताओं की भूख हड़ताल की धमकी का इन्टररनेट मीडिया पर खूब मजाक उड़ा था.कांग्रेस ने भी चुटकी ली थी कि जो लोग सीएम को धमिकयां देकर अपनी विधानसभा में बुलायेंगे .वो सीएम से क्या ले पायेंगे.अब जिला भाजपा ने इन सभी कार्यकर्ताओं पर भी कार्यबाही का मन बनाया है.

जिला देहरा भाजपा अध्यक्ष संजीव शर्मा पार्टी में किसी भी तरह की अनुशासनहीनता बर्दास्त नहीं होगी। भाजपा सरकार ने पिछले साढ़े चार साल अथाह बिकास करवाया है.ज्वालामुखी में करोड़ों की पेयजल योजनाओं तथा सड़कों के काम इसका उदाहरण है. पार्टी कार्यकर्ताओं को कुछ कमी लगी थी तो उन चीजों को जिला संगठन से बात करके मुख्यमन्त्री तक पहुंचाया जा सकता था.खुलेआम पार्टी विरोधी गतिविधियों को हवा देने वालों धैर्य से काम लेना चाहिए.कहा कि भूख हड़ताल की धमकियां देने वालों को भी जबाब देना होगा.अन्यथा सख्त कारर्वाइ होगी।

Edited By: Richa Rana