बैजनाथ, जेएनएन। रानीताल में हुए बैजनाथ के टैक्‍सी ड्राइवर मर्डर केस की गुत्‍थी सुलझ गई है। पुलिस ने हत्‍या के आरोप में सेना के जवान को गिरफ़तार कर लिया है। मृतक अश्वनी कुमार की टैक्सी अलहीलाल में आर्मी क्वार्टर के पास खड़ी बरामद की थी। इसके बाद पुलिस हत्‍या के आरोपित तक पहुंची। फील्ड रैजीमेंट अलहिलाल से 28 वर्षीय हनुमंत पुत्र ओम प्रकाश गांव जामाबाडी़ डाकघर हांसी जिला हिसार हरियाणा को पकड़ा है। बताया जा रहा है अारोपित ने पूछताछ के दौरान गुनाह कबूल कर लिया है। आरोपित की निशानदेही पर पुलिस ने गाड़ी की बरामदगी स्थल से दो किलोमीटर दूर एक लाइसेंसी रिवॉल्‍वर व 11 जीवित रौंद भी बरामद किए हैं। आरोपित से अभी तक लाइसेंस की बरामदगी नहीं हुई है।

आरोपित ने पूछताछ के दौरान बताया कि टैक्‍सी चालक अश्‍वनी कुमार के उसकी पत्‍नी के साथ नाजायज संबंध थे। एक दिन जब यह अपने सरकारी क्वार्टर में कहीं बाहर से आ रहा था तो उसने अश्वनी कुमार को अपने क्वार्टर में जाते देखा, उस समय कमरे में सिर्फ उसकी पत्‍नी थी। दोनों एक घंटे तक अंदर रहे और वह बाहर छुपकर सब देखता रहा। अश्वनी कुमार के कमरे से जाने के बाद जब वह अंदर गया तो उसने पत्‍नी से इस बारे में कोई बात न की। लेकिन अंदर ही अदंर उसके दिलोदिमाग में खलबली मची हुई थी। आरोपित ने टैक्‍सी चालक के बारे में जानकारी जुटाई और 22 सितंबर को चौबीन चौक से किसी अन्य व्यक्ति के मोबाइल से उसे फोन कर टैक्‍सी बुक करवाई।

इस दौरान पहले चामुंडा व इसके आसपास के इलाके में घूमा, लेकिन वहां उसे मारने का अवसर प्राप्त न हुआ। इसके बाद वे रानीताल की तरफ रवाना हुए व दोपहर 3 बजे रास्ते में एक सुनसान जगह देखकर इसने अश्वनी कुमार को गाड़ी रोककर फोटो लेने को कहा व फोटो लेते हुए आरोपित ने अश्वनी कुमार को डंगे के नीचे जाकर एंगल बनाकर फोटो लेने को कहा, इस दौरान उसने उस पर गोलियां बरसा दीं। अश्वनी कुमार को मारने के पश्चात वह गाड़ी लेकर अलहिलाल कैंट लौट आया व पहले रिवाल्वर व रौंद अपने ठिकाने लगाए। फिर क्वार्टर के पास गाड़ी लगाकर अंदर चला गया। आरोपित हनुमंत को पुलिस ने गिरफ्तार कर रविवार रात को देहरा अदालत में पेश किया, जहां उसे चार दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा गया है।

Posted By: Rajesh Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप